सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/Maharashtra Crisis: मंगलवार को महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने अपने गुट के 12 सांसदों से दिल्ली में मुलाकात की। इसके बाद सभी 12 सांसदों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से भेंट कर सदन में पार्टी के नेता को बदलने का अनुरोध किया है। 

रामदास कदम ने फोड़ा बम
उधर महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री रामदास कदम ने मंगलवार को राकांपा प्रमुख शरद पवार पर शिवसेना को तोड़ने का खुला आरोप लगाया। कहा- वे इसके सबूत भी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को दे चुके हैं। कदम ने कहा कि पवार ने शिवसेना को ‘व्यवस्थित रूप से कमजोर’ किया है। कुछ विधायकों ने इस पर चिंता भी व्यक्त की थी, लेकिन उद्धव ठाकरे शरद पवार से अलग होने को तैयार नहीं थे।

राकांपा का पलटवार

कदम की इस टिप्पणी के बाद महाराष्ट्र के राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ गई है। राकांपा के मुख्य प्रवक्ता महेश तापसे ने पूर्व मंत्री रामदास पर पलटवार किया। पवार के विरुद्ध उनकी टिप्पणी को खारिज करते हुए दावा किया कि शिवसेना को तोड़ने के पीछे भाजपा का हाथ है।

उद्धव ठाकरे ने रामदास कदम को किया बर्खास्त
पूर्व मंत्री रामदास कदम सोमवार को ही उद्धव ठाकरे को पत्र भेजकर ‘शिवसेना से इस्तीफा दे चुके है। उधर, वहीं, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने रामदास कदम को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने पर सोमवार शाम ही बर्खास्त कर दिया था। हालांकि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कदम को शिवसेना नेता के रूप में बहाल रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!