सत्य पथिक वेबपोर्टल/ऊधमसिंह नगर-उत्तराखंड/Poisonous Gas Leakage: मंगलवार को रुद्रपुर में कबाड़ी शाॅप में रखे लीक सिलेंडर से जहरीली क्लोरीन गैस का रिसाव होने लगा और आसपास इलाके में गैस फैल गई। हादसे में 34 लोगों के बेहोश होने की खबर है। बेहोश होने वालों में सूचना पर मौके पर पहुंचे एसडीएम और सीओ भी शामिल हैं। सबको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आईसीयू में भर्ती 9 मरीजों की हालत गंभीर बताई गई है। लोगों के एक साथ बड़ी संख्या में बीमार होने से इलाके में हड़कंप मच गया है।

मंगलवार सुबह उधमसिंह नगर जिला मुख्यालय रुद्रपुर स्थित ट्रांजिट कैंप के आजाद नगर में कबाड़ी की दुकान में रखे गैस सिलेंडर से जहरीली गैस का रिसाव हो गया। आसपास के इलाके में गैस के फैलते ही कई लोग इसकी चपेट में आकर बेहोश हो गए। रेस्क्यू के दौरान उप जिलाधिकारी किच्छा, सीओ सिटी रूद्रपुर, इंस्पेक्टर एसडीआरएफ समेत नौ लोग रेस्क्यू के दौराना प्रभावित हुए हैं।

रेस्क्यू कार्य के दौरान एसडीआरएफ के जवान भी गैस की चपेट में आ गए। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, वेल्डिंग मशीन में इस्तेमाल होने वाली क्लोरीन गैस के रिसाव की वजह से घटना हुई है। रुद्रपुर के ट्रांजिट कैंप के आजाद नगर में सुबह तकरीबन तीन बजे गैस का तेज रिसाव शुरू हुआ था।

खाली कराई 300 लोगों की आजाद नगर बस्ती

कबाड़ी के गोदाम में सिलेंडर रखा था, और गैस रिसाव होने के बाद वह मौके से भाग गया। 300 लोगों की आजादनगर बस्ती को खाली करा लिया गया है। एनडीआरएफ की टीम सिलेंडर को डिस्पोजल करने के लिए बुलाई गई है और सिडकुल क्षेत्र में 1 वन शक्ति मंदिर से आगे खाली मैदान पर सिलेंडर को डिस्पोजल किया जाएगा।

जिला अस्पताल में भर्ती एसडीएम कौस्तुभ मिश्रा

जहरीली गैस के रिसाव से लोगों के बेहोश होने की जानकारी पुलिस और प्रशासन को मिली तो तुरंत एसडीएम कौस्तुभ मिश्रा, मुख्य अग्निशमन अधिकारी वंश बहादुर यादव एवं एसडीआरएफ के तकरीबन 8 जवान रेस्क्यू अभियान के लिए मौके पर पहुंचे लेकिन रेस्क्यू अभियान शुरू करने से पहले ही जहरीली गैस की चपेट में आकर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों की भी तबीयत खराब हो गई। तुरंत एंबुलेंस की व्यवस्था कर सभी को ले जाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। एक साथ इतने लोगों के जिला अस्पताल में आ जाने से आईसीयू में भी जगह नहीं बची। अन्य स्थानों पर व्यवस्था बनाकर जहरीली गैस की चपेट में आए लोगों का उपचार शुरू किया गया।

आम लोगों के साथ ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के भी जहरीली गैस की चपेट में आकर बेहोश होने से पुलिस और प्रशासन में भी घंटों हड़कंप मचा रहा। जहरीली गैस का रिसाव होने से आसपास के इलाके में दहशत का माहौल बन गया। जहरीली गैस से बचने के लिए सड़कों पर लोगों को कपड़े से मुंह ढंककर चलते देखा गया।

सांस लेने में होने लगी दिक्कत

गैस का रिसाव होने से वहां आस-पास के लोगों को सांस लेने में दिक्कत होने लगी। साथ ही उल्टी होने की समस्या से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. मंजूनाथ टीसी ने बताया कि आजाद नगर में एक कबाड़ी के यहां क्लोरीन से भरे सिलेंडर से रिसाव हुआ था। गैस की चपेट में आकर बेहोश हुए करीब 34 लोगों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!