सत्य पथिक वेबपोर्टल/श्रीनगर/Tourism in Kashmir Valley: जम्मू-कश्मीर में पर्यटन के क्षेत्र में 75 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। इस साल अब तक रिकॉर्ड 1.62 करोड़ टूरिस्ट्स जम्मू-कश्मीर पहुंच चुके हैं। 1947 में आजादी के बाद से यहां आने वाले टूरिस्ट्स की यह सबसे बड़ी संख्या है।

जम्मू-कश्मीर पर्यटन विभाग का कहना है कि आर्टिकल 370 हटने के बाद रिकॉर्ड संख्या में टूरिस्ट्स जम्मू-कश्मीर पहुंच रहे हैं। पर्यटकों की इतनी बड़ी संख्या कश्मीर घाटी में पर्यटन के सुनहरे युग को दर्शाती है। जम्मू-कश्मीर में टूरिज्म रोजगार का सबसे बड़ा स्रोत है। इस साल में शुरुआत से अब तक 1.62 करोड़ पर्यटक यहां पहुंच चुके हैं, जो आजादी के बाद से अब तक का पर्यटकों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। पर्यटन से पुंछ, राजौरी सहित जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में रोजगार का बड़े पैमाने पर सृजन हुआ है।

आजादी के अमृत महोत्सव अभियान के तहत जम्मू-कश्मीर में पर्यटन के लिए 75 स्थानों को चिह्नित किया गया है। इस साल के शुरुआती आठ महीनों में 20.5 लाख पर्यटकों ने कश्मीर का दौरा किया है, इनमें 3.65 लाख तीर्थयात्री बर्फानी बाबा अमरनाथ की गुफा का दर्शन करने के लिए पहुंचे। इस दौरान पहलगाम, गुलमर्ग और सोनमर्ग जैसे पर्यटन स्थल और श्रीनगर के सभी होटल और गेस्ट हाउस खचाखच भरे रहे।

कश्मीर में खुलेगा फिल्म स्टूडियो
पर्यटन विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में फिल्मों की शूटिंग के लिए फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने की पॉलिसी शुरू की गई है। कश्मीर में फिल्मों और वेब सीरीज की शूटिंग के लिए 140 मंजूरियां दी गई है। साथ ही अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस एक फिल्म स्टूडियो भी खोलने की तैयारी है। केंद्रीय गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय ने इस साल अगस्त में राज्यसभा में बताया था कि जनवरी से तीन जुलाई तक 1.06 करोड़ पर्यटक जम्मू-कश्मीर पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!