सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Bravery of Indian Soldiers: भारत के मुट्ठी भर जांबाज जवानों ने घुसपैठ के इरादे से अरुणाचल प्रदेश की तवांग चौकी में आई 300 चीनी फौजियों की टुकड़ी को छठी का दूध याद दिलाते हुए दुम दबाकर भागने पर मजबूर कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ऐसा एक नहीं, दो बार हुआ। पहले नौ दिसंबर और फिर दो दिन बाद 11 दिसंबर 2022 को। दोनों बार पीएलए के चीनी फौजियों को मुंह की खानी पड़ी और घुसपैठ में नाकाम होकर जान बचाते हुए भागना पड़ा।

भारत माता की पवित्र मिट्टी पर चीनी फौजियों को एक कदम भी नहीं रखने देने और सिर्फ डंडों के जोर पर खदेड़ देने के लिए भारतीय जवानों को प्रेरित कर रहे थे एक सिख कमांडर।

जान पर खेलकर भी मातृभूमि की आन-बान-शान की रक्षा करने वाले इन वीर भारतीय जवानों और उन्हें जीत का हौसला देने वाले कमांडर को हजारों-हजार प्रणाम…सलाम! काश, वोटों के लालची, मौकापरस्त हमारे नेता भी इनसे कुछ सीख ले पाते…!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!