दोनों ने भागकर की थी लव मैरिज, दहेज हत्या का आरोप

सत्य पथिक वेबपोर्टल/फतेहगंज पश्चिमी-बरेली/murder: कस्बा फतेहगंज पश्चिमी के मोहल्ला अंसारी वार्ड नंबर 8 में पति ने पत्नी की हत्या कर शव बोरे में छुपा दिया। सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

जानकारी के अनुसार रिजवान और जैनब ने करीब 8 महीने पहले लव मैरिज की थी। शादी के कुछ दिन बाद ही दोनों में अनबन रहने लगी। आरोप है कि रिजवान दो लाख रुपये और बाइक मायके से लाकर देने की मांग को लेकर अपनी पत्नी जैनब के साथ अक्सर उसे पीटता था। विवाद बढ़ने पर पति रिजवान ने मंगलवार को अपनी पत्नी जैनब की हत्या कर दी और लाश स्टोररूम में छुपा दी।

रिजवान और जैनब दोनों एक ही मोहल्ले वार्ड आठ अंसारी के रहने वाले थे। दोनों में प्रेम संबंध बन गए। जैनब के पिता शब्बीर अहमद और अन्य परिवार वाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। जैनब के भाई मुस्तकीम ने बताया कि रिजवान उनकी बहन को भगाकर ले गया था लेकिन उन लोगों ने बदनामी के डर से रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई थी। उनके पिता शब्बीर अहमद ने बेटी को भगाकर ले जाने के बाद बदनामी की वजह से घर ही छोड़ दिया और मोहनपुर नकटिया में जाकर रहने लगे। लोगों ने काफी समझाया तो महीने भर बाद वह घर लौटे। इसी बीच रिजवान भी जैनब को लेकर अपने घर आ गया। बदनामी को देखते हुए जैनब के मायके वालों ने रिजवान के घर वाली गली से निकलना भी छोड़ दिया था।

जैनब के भाई मुस्तकीम ने बताया कि रिजवान उनकी बहन को दहेज के लिए प्रताड़ित करता था। वे लोग तो उससे बात नहीं करते थे लेकिन जैनब की अपनी बड़ी बहन आसिया से बात होती थी। आसिया ने कई बार रिजवान को समझाया भी था।मंगलवार दोपहर रिजवान ने जैनब को मारा-पीटा तो जैनब ने आसिया को फोन किया। आसिया ने रिजवान को एक बार फिर समझाया था, लेकिन शाम को रिजवान ने जैनब की हत्या कर दी। मौके पर पहुंचे मीरगंज सीओ राजकुमार, थाना प्रभारी राजेश सिंह, चौकी प्रभारी ललित कुमार ने मौका मुआयना किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

भाई मुस्तकीम ने कहा कि रिजवान के घर वाले वारदात में शामिल होने की बात से इन्कार कर रहे हैं। हालांकि हत्या के बाद शव बोरे में बंद करके सीढ़ी पर चढ़कर गैलरी के स्टोर में रखना अकेले इंसान के बस की बात नहीं है। पूरे परिवार ने ही हत्या करके शव को स्टोर में छुपाया है। पिते शब्बीर अहमद ने जैनब के ससुर बिलाल, दामाद रिजवान, ननद जीनत और नन्दोई अब्दुल पर दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

मीरगंज सीओ राजकुमार मिश्र ने बताया कि महिला की गला दबाकर हत्या के बाद उसका शव गैलरी के स्टोर रूम में छुपाया गया था। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा है। मृतका के पिता ने दहेज हत्या का आरोप लगाकर तहरीर दी है।

मुदित प्रताप सिंह की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!