सत्य पथिक वेबपोर्टल/हल्द्वानी/उत्तराखंड/Forgery: जिले में एक दूल्हे के सारे अरमान तब धुल गए जब वह अपनी दुल्हन को लेकर घर जा रहा था। विदाई के बाद ससुराल जाते समय रीवा रेलवे स्टेशन से दुल्हन रफूचक्कर हो गई।

हरियाणा में रह रही राजस्थान की महिला के भाई की शादी नहीं हो रही थी। ऐसे में 7 महीने पहले रीवा के लड़के से दोस्ती हो गई। वह बहना-बहना कहकर घर वालों से घुल मिल गया। दोनों एक दूसरे से अपना दुख-दर्द शेयर करने लगे। एक दिन महिला ने कहा कि सब कुछ अच्छा है, लेकिन मेरे भाई की शादी नहीं हो रही है। अगर आपके रीवा क्षेत्र में कोई अच्छी सी लड़की हो तो शादी करा दो। यहीं से रीवा के युवक ने मुंहबोली बहन को ठगने का प्लान बना लिया।

शादी के बहाने मुंहबोली बहन को ठगने का बनाया प्लान

रीवा के लड़के ने महिला को पांच युवतियों की फोटो व्हाट्सएप के माध्यम से भेज दी। जब एक युवती को महिला ने पसंद कर लिया तो लड़के ने कहा कि युवती गरीब फैमिली की है। ऐसे में 1 लाख रुपए लगेंगे। फिर भी महिला राजी हो गई। उसने अपने भाई और परिजनों को बात बताई। 7 सितंबर को शादी की दिनांक तय हो गई। राजस्थानी परिवार ने कहा कि शादी युवती के घर से हो, लेकिन बिचौलिए ने कहा कि लडकी के परिवार वाले शादी के खिलाफ हैं। ऐसे में मंदिर में शादी हो जाएगी। आप लोगों को टेंशन लेने की जरूरत नहीं है।

दूल्हे की बहन ने बताया कि लड़की पक्ष के लोगों ने बिचौलिए के मार्फत शादी कराने के एवज में डेढ़ लाख रुपये लिए थे। इन रुपयों के साथ ही दुल्हन गहने-कपड़े लेकर भी रफूचक्कर हो गई है।

वर पक्ष का दावा-दुल्हन से लेकर पंडित तक सब थे नकली

दूल्हे की बहन ने बताया कि 7 महीने पहले यह युवक हरियाणा में मिला था और उसके भाई की शादी करवाने के लिए लड़की की फोटो दिखाई थी। यह भी बताया था कि युवती पक्ष के लोग गरीब परिवार से हैं। लिहाजा उन्होंने वधू पक्ष को शादी के लिए मांगी गई रकम दे दी। विवाह के तय मुहूर्त पर कल गुरुवार को दूल्हा और वर पक्ष के अन्य लोग शादी करने के लिए रीवा पहुंच गए। ठगी के शिकार वर पक्ष का कहना है कि शादी तो ठगी का बहाना थी। पंडित, दुल्हन, वधू पक्ष के लोग सभी नकली थे। बहरहाल पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है और तहरीर के आधार पर कार्रवाई कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!