सत्य पथिक वेबपोर्टल/फतेहगंज पश्चिमी-बरेली/Property dispute: जनपद बरेली के कस्बा व थाना फतेहगंज पश्चिमी में नेशनल हाईवे उनासी चौराहे पर होटल पर कब्जे को लेकर दो पक्षों मे विवाद हो गया। एक पक्ष ने होटल में तोड़फोड़ और आगजनी कर 25 हजार रुपये लूटने का आरोप लगाया, तो दूसरे पक्ष ने होटल को निजी संपत्ति बताया है। पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों को थाने में बैठा लिया है।

फतेहगंज पश्चिमी कस्बे के पास एनएच 530 के उनासी चौराहे पर गांव के ही सुखलाल मौर्य की तीन दुकानें हैं। ये दुकानें सुखलाल ने कस्बा निवासी राजेश सिंह को 5 साल पहले किराए पर दी थीं। इनमें वह होटल चला रहे थे। पास में ही अपना निजी होटल बनाने के बाद राजेश ने 2 साल पहले इन दुकानों को लोहार नगला गांव की लता साहू को किराए पर दे दिया। छह महीने पहले इस संपत्ति के मालिक सुखलाल ने लता साहू से दुकानें खाली करने को कहा तो उन्होंने इन्कार कर दिया। बाद में सुखलाल ने करीब 2 माह पहले दुकानें सीबीगंज के हरिशंकर को बेच दीं। हरिशंकर दुकान खाली कराने के लिए दबाव बनाने लगे।
बृहस्पतिवार को लता साहू ने पुलिस को तहरीर देकर उनकी गैरमौजूदगी में करीब डेढ़ दर्जन लोगों पर होटल पर कब्जा करने और काउंटर को जलाकर 25 हजार रुपये निकालने, विरोध करने पर उनके बेटे नितिन को पीटकर घायल करने का आरोप लगाया। दूसरे पक्ष ने भी पुलिस को लता साहू के खिलाफ अवैध रूप से कब्जा करने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। फतेहगंज पश्चिमी थाना प्रभारी राजेश सिंह ने बताया कि दुकानों को लेकर दोनों पक्षों में काफी समय से विवाद चल रहा है। दोनों ओर से लिखित शिकायत की गई है, मामले की जांच की जा रही है। इसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!