सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Maha Madaleshwar on Sanatan Dharma: निरंजन पीठाधीश्वर श्री श्री 1008 आचार्य कैलाशानंद गिरि जी महाराज का महामंडलेश्वर के अति गरिमापूर्ण पद पर पट्टाभिषेक होने के बाद प्रथम बार बरेली आगमन पर होटल ओबराय आनंद के वॉलरूम हॉल में उनकी प्रेस वार्ता आयोजित की गई।

प्रेस वार्ता से पहले महामंडलेश्वर आचार्य कैलाशानंद गिरि जी महाराज का बरेली में जोर-शोर से स्वागत हुआ। यही नहीं, कैलाशानंद गिरि जी महाराज ने विभिन्न कार्यक्रमों में भी हिस्सा लिया तथा खेलकूद की एकल अभ्युदय योजना के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर भी उपस्थित रहे। होटल ओबराय आनंद में प्रेस वार्ता में पत्रकारों के सवालों पर महामंडलेश्वर उन्होंने कहा कि देश में सनातन धर्म की रक्षा करना और साथ ही उसका प्रचार करना भी बहुत जरूरी है। ज्ञानवापी के सवाल पर उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि साक्ष्य कोर्ट में दिए जा चुके हैं, कोर्ट जरूर हमारे पक्ष में फैसला देगा।

महामंडलेश्वर आचार्य कैलाशानंद गिरि ने कहा, सनातन धर्म के सनातन गुरुओं का सनातन अनुयायियों को बल मिल रहा है, धर्म का राजा धर्म की रक्षा कर रहा है। देश के बड़े-बड़े पीठों काशी विश्वनाथ, बद्रीनाथ, केदारनाथ आदि का जीर्णोद्धार हो रहा है। बरेली आगमन पर उन्होंने कहा कि बरेली नाथों की नगरी है। बरेली के 9 नाथ हैं। उन सबके नाथ स्वयं भगवान शिव हैं। उन्हीं की मंगल कामना से आज मैं इतने उच्च स्थान तक पहुंच पाया हूं।

एक सवाल का जवाव देते हुए महामंडलेश्वर आचार्य कैलाशानंद गिरि जी महाराज ने कहा कि लगभग 6 साल बाद मैं बरेली आया हूं। सबसे पहले मात्र 22 साल की उम्र में यहां आया था। निरंजन पीठाधीश्वर बनने पर 6 साल बाद जब दुबारा आया तो बरेली की प्रगति देखकर दिल खुश हो गया। पत्रकारों के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं बरेली को विश्व स्तर पर देखना चाहता हूं।

श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर आचार्य कैलाशानंद गिरि जी महाराज शुक्रवार 28 अक्तूबर को यहां पहुंचे और 30 अक्टूबर रविवार तक बरेली धर्म कांटा स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर आश्रम में प्रवास करेंगे। प्रेस वार्ता में सुनील यादव, डॉ. अनिल शर्मा, महापौर डॉ. उमेश गौतम, राकेश यादव, दिनेश यादव, धीरज, अमित चौधरी, संदीप बत्रा, दीपक सिंह और अन्य सम्मानित लोग भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!