सत्य पथिक वेबपोर्टल/कोलकाता/Arpita mukharjee wept bitterly: ममता सरकार के कद्दावर मंत्री रहे पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी (Arpita) मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल ले जाते वक्त गिर गईं। उनके पैर में चोट आई है। उन्हें व्हीलचेयर पर अस्पताल के अंदर ले जाया गया। अस्पताल में पहुंचते ही फूट-फूटकर रोने लगीं और रोते-रोते बेहोश भी हो गईं।

साजिशन फंसाया जा रहा है मुझे-पार्थ 
वहीँ ममता सरकार में तीन-तीन विभागों के मंत्री और टीएमसी के दिग्गज नेता रहे पार्थ चटर्जी ने कहा है कि उन्हें षड़यंत्र के तहत फंसाया जा रहा है। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को पार्थ चटर्जी को वाणिज्य और उद्योग सहित कई भारी विभागों के मंत्री पद से हटा दिया है। साथ ही पार्टी के सभी पद भी लेकर तृणमूल कांग्रेस से निलंबित भी कर दिया है।

दो घरों से 50 करोड़ रुपये कैश, आठ किलो सोना हो चुका बरामद
गौरतलब है  कि केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी पार्थ चटर्जी की सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के विभिन्न घरों से लगभग 50 करोड़ रुपये नकद और आठ किलो सोना बरामद कर चुकी हैं। बुधवार को भी अर्पिता के एक घर में छापे में 29 करोड़ रुपये कैश और पांच किलो सोना बरामद हुआ था।

बरामद पूरी रकम पार्थ की ही थी-अर्पिता 
ईडी सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में अर्पिता मुखर्जी ने बताया है कि बरामद की गई पूरी रकम पार्थ की ही थी। मंत्री उसके घर को मिनी बैंक के तौर पर इस्तेमाल करते थे और पूरी रकम को बंद कमरों में रखा जाता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!