सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/साहित्य: सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘फेसबुक’ पर संचालित ग्रुप ‘कशिश-ए लफ़्ज़’ की 24 जुलाई 2022 रविवार को आयोजित ऑनलाइन शायरी लेखन प्रतियोगिता में बरेली के जाने-माने कवि-शायर राज शुक्ल ‘नम्र’ ग़ज़लराज़ को एक साथ चार पुरस्कारों से नवाजा गया।

अलग-अलग ग्रुपों की ओर से ‘हसरत’, ‘बारिश रिमझिम’ और ‘तोहफा’ शब्दों पर अलग-अलग शेर पढ़ने थे। ‘कलम की जादूगरी’ ग्रुप की ओर से ‘हसरत’ लफ्ज को बेहतरीन अंदाज में खूबसूरत ग़ज़ल में पिरोने पर राज शुक्ल नम्र उर्फ ग़ज़लराज को श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान से नवाजा गया। इसके अलावा ‘शायराना मिजाज’ ग्रुप के ‘बारिश रिमझिम’ शब्दों पर शानदार शेर पढ़ने पर ग़ज़लराज को सर्वश्रेष्ठ लेखक रत्न सम्मान प्रदान किया गया। ‘मेरी कलम मेरी शायरी’ ग्रुप की ओर से ‘तोहफा’ शब्द पर उत्कृष्ट ग़ज़ल लेखन पर उन्हें श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान पत्र दिया गया।

इसी ग्रुप द्वारा ‘तोहफा’ शब्द पर उम्दा ग़ज़ल लिखने पर बरेली के ही एक अन्य वरिष्ठ कवि-शायर विनय साग़र जायसवाल को भी श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान से सम्मानित किया गया। विनय साग़र जायसवाल की ग़ज़ल का शेर मुलाहिजा फरमाइए-


थीम–तोहफा
***********
शेर—
गिला किया था कि *साग़र*  दिया नहीं कुछ भी
तमाम दर्द हमें तोहफे में दे.दिये उसने।

इसके साथ ही ‘बेमिसाल शायरी’ ग्रुप द्वारा श्री ग़ज़लराज को विनर ऑफ द डे अवार्ड भी प्रदान किया गया। ग़ज़लराज ने अपनी इन उपलब्धियों को मां शारदे की कृपा और बुजुर्गों, दोस्तों और शुभचिंतकों की दुआओं, शुभकामनाओं का प्रतिफल बताया है और सबका आभार भी व्यक्त किया है।

बतौर बानगी पेशे खिदमत है ग़ज़लराज़ की एक पुरस्कृत ग़ज़ल-

दिल को खुशियों का भी पता देना

मुझको गर जान आसरा देना
तो नहीं बीच में दगा देना

प्यार देना सनम वफ़ा देना
साथ हर मोड़ पर मेरा देना

मेरी हसरत नही मिटा देना
चाहे मुझको ही कर फ़ना देना

हर सितम और हर सज़ा देना
पर नज़र से नहीं गिरा देना

आजमा लेना जब भी दिल चाहे
पर मुझे यार मत भुला देना

मै भटक जाऊँ कभी तो आ के
बस सही राह तुम दिखा देना

लाख ग़म देना जानेमन लेकिन
दिल को ख़ुशियों का भी पता देना

राज की आरजू है बस इतनी
दाग़ दामन में मत लगा देना

ग़ज़लराज

इससे पहले 22 जुलाई शुक्रवार को फेसबुक के ग्रुप ‘मैं शायर हूँ̃’ में हुई के विषय ‘शिद्दत से जिया है’ विषय पर ग़ज़ल लेखन प्रतियोगिता में भी ग़ज़लराज को सम्मान पत्र से विभूषित किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!