सत्य पथिक वेबपोर्टल/कोलकाता/politics: टीचर भर्ती घोटाला मामले में फंसे पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा गिरफ्तारी से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चार बार फोन किया था, लेकिन सीएम ने एक भी बार कॉल रिसीव नहीं किया।

इस बात का जिक्र ED की टीम ने अपनी कागजी कार्रवाई में भी किया है। बता दें कि ईडी की टीम ने मंत्री पार्थ चटर्जी की सहयोगी अभिनेत्री अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर रेड मारी थी. जहां से टीम को 20 करोड़ से ज्यादा कैश मिला था। कई ऐसे पेपर भी मिले थे, जिनमें रकम के अवैध लेन-देन के पुख्ता सबूत थे। अर्पिता कैश के बारे में सही जानकारी भी नहीं दे सकी थीं।

इस घोटाले के सीधे तार मंत्री पार्थ चटर्जी से जुड़े होने पर जांच एजेंसी ने 26 घंटे की पूछताछ के बाद 22-23 जुलाई की रात 1.55 बजे उन्हें गिरफ्तार कर लिया था।
ईडी अधिकारियों की अनुमति से पार्थ ने ममता को शनिवार सुबह 2.31 बजे, 2:33 बजे, 3:37 बजे और सुबह 9:35 बजे चार बार कॉल किया, लेकिन सीएम द्वारा किसी भी कॉल का जवाब नहीं दिया गया। गिरफ्तारी के बाद पार्थ की तबीयत बिगड़ने पर हाईकोर्ट के आदेश पर उन्हें भुवनेश्वर के AIIMS ले जाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!