केंद्र और सभी संबंधित राज्यों को नोटिस भेजकर नई-पुरानी एफआईआर पर कार्रवाई नहीं करने के निर्देश

सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/relief to Nupur Sharma from SC: पैगंबर ए इस्लाम बेअदबी मामले में नूपुर शर्मा (Nupur sharma) की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट ने 10 अगस्त तक रोक लगा दी है। उसी दिन मामले की अगली सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और संबंधित राज्य सरकारों (जहां-जहां FIR दर्ज हैं) को नोटिस भी जारी किया है।

पैगम्बर हज़रत मोहम्मद साहब पर विवादित टिप्पणी पर अलग-अलग राज्यों में 9 FIR का सामना कर रहीं नूपुर शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में दोबारा अर्जी लगाई थी। इस पर आज मंगलवार को सुनवाई हुई।

अपनी अर्जी में नूपुर ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणियों (पिछली सुनवाई) के बाद उनकी और परिवार वालों को जान का खतरा बढ़ गया है। नूपुर ने कोर्ट से गिरफ्तारी पर रोक लगाने के साथ साथ सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर कर एक साथ सुनवाई करने की मांग भी की थी। कोर्ट में नूपुर शर्मा के वकील ने भी कहा कि नूपुर को रेप, हत्या की धमकियां लगातार मिल रही हैं।

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस पारदीवाला की बेंच के सामने नूपुर के वकील मनिंदर सिंह ने दलील दी कि पहली FIR दिल्ली में दर्ज हुई थी। बाकी सब FIR उसी एक आरोप पर आधारित हैं। लिहाजा सिर्फ दिल्ली में दर्ज एफआईआर पर पुलिस को कार्रवाई की इजाजत दी जाए और बाकी सभी पुरानी और नई FIR पर रोक लगाई जाए। गिरफ्तारी पर भी रोक लगाने का आग्रह किया गया।

बाद में सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 10 अगस्त की तारीख तय कर दी और केंद्र तथा संबंधित राज्यों दिल्ली, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, यूपी, असम, जम्मू कश्मीर की सरकारों को नोटिस भेज दिया है। नोटिस में अगली सुनवाई तक नुपुर की गिरफ्तारी और नई FIR पर कार्रवाई नहीं करने की साफ हिदायत दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!