सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Action: भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के बरेली जिलाध्यक्ष शैलेंद्र विक्रम सिंह को दहेज हत्या के 24 साल पुराने मामले में उम्र कैद की सजा सुनाई गई है। कोर्ट का फैसला आते ही पार्टी ने उन्हें फौरन पदमुक्त कर दिया है।

पीड़ित पक्ष के पक्ष में अदालत का यह फैसला अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए 24 साल तक लंबी लड़ाई लड़ने के बाद आया है। शैलेंद्र विक्रम सिंह उर्फ अवधेश पाल कोतवाली सुभाष नगर के मोहल्ला गणेश नगर के रहने वाले हैं। उनके विरुद्ध पिछले 24 साल से पत्नी को मिट्टी का तेल छिड़ककर जलाकर मार डालने के आरोप में मुकदमा चल रहा था। विद्वान अपर सेशंस जज तृतीय इफ्तेखार अहमद ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद उपलब्ध सभी साक्ष्यों के आधार पर शैलेंद्र विक्रम को दहेज के लिए पत्नी को जलाकर मार डालने का दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। शैलेंद्र विक्रम आर हरेंद्र पटेल की अध्यक्षता में भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा में जिला महामंत्री भी रह चुके हैं। बाद में उनकी मोर्चा के जिलाध्यक्ष पद पर ताजपोशी हुई थी। 

अभियोजन पक्ष के अनुसार,वर्ष 1996 में शैलेंद्र विक्रम का विवाह पीलीभीत के राजकुमार की बेटी बबिता से हुआ था। पिता राजकुमार ने सुभाषनगर कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि 4 जून 1998 को शैलेंद्र ने अपनी मां पुष्पा रानी और ममेरे भाई मनोज पाल के साथ मिलकर बबीता के शरीर पर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। ससुरालियों को घटना की सूचना तक नहीं दी।गंभीर रूप से झुलसी बबीता ने 8 दिन बाद दम तोड़ दिया था।

सरकारी वकील राजेश्वरी गंगवार ने इस मामले में 10 गवाह पेश किए। मुकदमे के दौरान शैलेंद्र की मां पुष्पा रानी और ममेरे भाई मनोज पाल की मौत हो गई। मुकदमा चलने के दौरान ही शैलेंद्र ने दूसरी शादी कर ली। उससे उनके एक पुत्र और एक पुत्री है। इस मामले की सुनवाई 24 साल तक चली मृतका के पिता राजकुमार का कहना है, कि इस दौरान गवाहों को तोड़ने की भी तमाम कोशिशें हुईं लेकिन आखिरकार सच की ही जीत हुई। अपर सेशन जज तृतीय इफ्तेखार अहमद ने दहेज हत्या के लिए शैलेंद्र विक्रम सिंह को जिम्मेदार ठहराते हुए न सिर्फ उम्र कैद की सजा सुनाई बल्कि 40 हजार रुपये का जुर्माना भी ठोंका है। जुर्माने की रकम मुकदमे के खर्च के रूप में राजकुमार को दी जाएगी।

शैलेंद्र विक्रम को उम्र कैद होने की जानकारी जैसे ही भाजपा नेतृत्व को मिली, उसने तत्काल प्रभाव से उन्हें पदमुक्त करते हुए पार्टी से भी निलंबित कर दिया है। भाजपा जिलाध्यक्ष पवन शर्मा ने बताया कि जिला प्रभारी प्रदेश उपाध्यक्ष संतोष सिंह की संस्तुति और प्रदेश अध्यक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह के निर्देश पर शैलेंद्र विक्रम सिंह को भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष पद से कल रात ही हटा दिया गया है। जिलाध्यक्ष ने बताया कि शैलेंद्र विक्रम ने इस मुकदमे की जानकारी संगठन से छुपाई थी। फतेहगंज पश्चिमी भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय चौहान एवं जिला उपाध्यक्ष अजय सक्सेना ने भी शैलेंद्र विक्रम को पदमुक्त करने के भाजपा नेतृत्व के कड़े फैसले की सराहना की है।

बरेली से संवाददाता डॉक्टर मुदित प्रताप सिंह की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!