सत्य पथिक वेबपोर्टल/देहरादून-उत्तराखंड/cloud burst in Dehradun: देहरादून जिले में बीती रात बादल फटने से इलाके में भारी बाढ़ आ गई। एसडीआरएफ की टीम सूचना पाते ही फौरन मौके पर पहुंच गई और रायपुर ब्लॉक के सरखेत गांव में बाढ़ में फंसे सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया।इस बीच मौसम विभाग ने उत्तराखंड के कई अन्य जिलों में भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।  

बारिश से नदियां उफान पर, प्रशासन अलर्ट 

शुक्रवार को उत्तराखंड में मैदान से लेकर पहाड़ तक झमाझम बारिश हुई। कुमाऊं के खटीमा में सबसे अधिक 152 मिमी और देहरादून के सहस्रधारा इलाके में 97.5 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है। बारिश से सौंग, सुसवा, चंद्रभागा नदियां उफान पर आ गई हैं। वहीं बंगाला नाला और अन्य छोटे नालों का जलस्तर भी बढ़ गया। लगातार हो रही बारिश के बाद प्रशासन ने बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए एसडीआरएफ को भी तैयार रहने के लिए कहा गया है। वहीं देहरादून में भी प्रेमनगर के पास टोंस नदी उफान पर आ गई। वहीं, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान तीन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। 

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एवं वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक विक्रम सिंह ने बताया कि अगले चौबीस घंटे में देहरादून, चमोली और बागेश्वर के कुछ इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। उन्होंने आपदा प्रबंधन विभाग से जुड़े अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने की हिदायत दी है। इन जिलों में भारी बारिश के साथ ही कहीं-कहीं तेज गर्जना के साथ आकाशीय बिजली गिरने की भी आशंका है।

लोगों से सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा है
“सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। नदी किनारे रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा गया है। मुनादी भी कराई जा रही है। प्रशासन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।” –शैलेंद्र सिंह नेेगी, एसडीएम ऋषिकेश। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!