सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/CWC Meeting for President Election: गुलाम नबी आज़ाद जैसे और बुजुर्ग जयवीर शेरगिल जैसे युवा नेताओं के इस्तीफों के बीच जब कांग्रेस इतिहास के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है तो आज रविवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बहुप्रतीक्षित मीटिंग बुलाई गई है। इसमें कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर भी चर्चा हो सकती है लेकिन लाख टके का सवाल तो यह है कि जब कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पूर्व अध्यक्ष बेटे राहुल और मौजूदा महासचिव बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ विदेश यात्रा पर हैं तो ऐसे में बैठक में अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर सार्थक चर्चा होने और किसी नतीजे पर पहुंच पाने की क्या कोई उम्मीद है भी?

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर आज वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक आज रविवार तीसरे पहर साढ़े तीन बजे वर्चुअल मोड में आयोजित की जाएगी। बैठक में अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर भी चर्चा हो सकती है। कांग्रेस अध्यक्ष पद पर चुनाव की प्रक्रिया 20 अगस्त से शुरू हो चुकी है और 21 सितंबर तक संपन्न होनी है। यह बात दीगर है कि पौन माह से भी कम वक्त बचने के बावजूद अभी तक कांग्रेस अध्यक्ष के लिए किसी की कोई दावेदारी सामने नहीं आई है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बीते मंगलवार को इसी सिलसिले में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत से मुलाकात भी की थी। कहा जा रहा है कि मुलाकात के दौरान सोनिया गांधी ने गहलोत से कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने का आग्रह भी किया था। हालांकि सार्वजनिक रूप से न तो सोनिया गांधी और न गहलोत ने ही इस बाबत खुलकर कुछ कहा है। उल्टे पूछने पर गहलोत का जवाब था कि कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपे जाने के बारे में वह कुछ नहीं जानते हैं। उन्हें तो इस बारे में मीडिया से ही पता चला है। पार्टी ने जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी है, वह उसे पूरा कर रहे हैं।

2019 से ही खाली है कांग्रेस अध्यक्ष का पद 

कांग्रेस में पूर्णकालिक अध्यक्ष का पद वर्ष 2019 से ही खाली है। कई बार कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को आगे खिसकाया जा चुका है। अब फिर से 20 सितंबर की तारीख तय की गई है। कांग्रेस नेताओं की मानें तो कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को एक बार फिर कुछ दिन और बढ़ाया जा सकता है।

राहुल अपने फैसले पर कायम  
राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। वह अपना रुख बदलने के लिए तैयार नहीं हैं। संकेत दे चुके हैं कि उन्हें किसी विशेष ‘पद’ में कोई दिलचस्पी नहीं है और वह पार्टी के लिए बगैर पद के ही काम करते रहेंगे।

प्रियंका गांधी वाड्रा भी दौड़ से बाहर?  
प्रियंका गांधी वाड्रा भी सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ विदेश यात्रा पर चली गई हैं। संदेश साफ है कि उन्होंने भी कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव से खुद को अलग कर लिया है। शायद प्रियंका भी चाहती हैं कि अध्यक्ष पद पर गांधी परिवार से अलग पार्टी के किसी सर्वमान्य नेता का नाम सभी पदाधिकारी मिल-बैठकर खुद ही सुलझाएं।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!