एफआईआर दर्ज नहीं करने पर ग्रामीणों ने ढाई घंटे शीशगढ़-बहेड़ी रोड पर लगाया जाम

सत्य पथिक वेबपोर्टल/ शीशगढ़-बरेली/murder in love affair: जिला बरेली की तहसील मीरगंज के गाँव जियानगला निबासी 22 वर्षीय नवयुवक की शुक्रवार की रात्रि मुँह में कपड़ा ठूंसकर हत्या कर शव गांव कुतुकपुर के रिटायर शिक्षक के आम के बाग में रस्सी के सहारे पेड़ से लटका दिया। धान के खेत में पानी लगाने पहुंचे किसान ने बाग में शव लटका देख ग्राम प्रधान व ग्रामीणों को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक की शनाख्त कराने के बाद शव को सील कर पोस्टमार्टम को भेज दिया।

उधर मृतक के पिता ने गाँव की ही दूसरे समुदाय की लड़की के परिजनों पर प्रेम संबंधों के विरोध में हत्या कर शव पेड़ पर लटकाने का आरोप लगाते हुए शीशगढ़ थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने आरोपों की जाँच करने तथा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही करने की बात कही है। पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज करने में टालमटोल पर नाराज ग्रामीणों ने जियानगला के पास शीशगढ़-बहेड़ी मार्ग पर ट्रक आड़ा-तिरछा खड़ा कर जाम लगा दिया और हाथों में लाठी- डंडे लेकर पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए ढाई घंटे तक हंगामा करते रहे।

जानकारी के अनुसार, सुनील कुमार 22 वर्ष पुत्र आशाराम निवासी ग्राम जिया नगला की शुक्रवार की रात्रि मुँह में कपड़ा ठूंसकर हत्या कर शव गाँव से कुछ दूरी पर कुतकपुर निवासी रिटायर्ड शिक्षक चिंतामणि के आम के बाग में रस्सी से बांधकर पेड़ पर लटका दिया। शनिवार सुबह धान के खेत मे पानी लगाने पहुंचे किसान रामधुन ने शव पेड़ पर लटका देख कुतुकपुर ग्राम प्रधान नरेश गंगवार को सूचना दी। ग्राम प्रधान नरेश बहुत से ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचे। सूचना पर शीशगढ़ थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अजय पाल सिंह भी घटना पहुंच गए। थाना प्रभारी की मौजूदगी में ग्रामीणों ने मृतक की पहचान सुनील कुमार पुत्र आशाराम जियानगला के रूप में की। पेड़ पर रस्सी के सहारे लटके शव को नीचे उतारा। सुनील की हत्या की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया।सूचना पर मृतक के परिजन मौके पर पहुंचे तो देखा कि मृतक सुनील कुमार के मुँह में कपड़ा ठुंसा हुआ और दोनों हाथ रस्सी से बंधे हुए थे और सिर, आंखों पर गमछा बंधा हुआ था। दूसरे समुदाय की प्रेमिका के परिजनों द्वारा प्रेम संबंधों से क्षुब्ध होकर गला घोंटकर हत्या कर शव पेड़ पर लटकाने का आरोप लगाते हुए थाना शीशगढ़ में तहरीर दी गई है।
मृतक के पिता आशाराम ने वताया कि उनके बेटे सुनील का 3 माह पूर्व गाँव के ही इसरार अहमद पुत्र निसार अहमद की पुत्री के साथ प्रेम प्रसंग के चलते झगड़ा हो गया था। जिसका ग्राम प्रधान ने बैठक कर फैसला भी करा दिया था। इसी बात को लेकर इसरार अहमद के परिवार के लोग उससे रंजिश मानने लगे थे, तथा उसी दिन से बोल चाल भी बंद थी। शुक्रवार की रात में उनका बेटा रात में घर में सोया था। जिसको 11बजे तक घर में सोते हुए देखा गया था। उसके बाद उसका शव बाग में आम के पेंड़ से रस्सी के सहारे लटका हुआ मिला है। इसरार अहमद ने अपने परिजनों व रिश्तेदारों के साथ मिलकर इसी रंजिश में मुंह मे कपड़ा ठूंसकर हत्या कर शव पेंड़ से लटका दिया है।
पुलिस को सौंपी हत्या से पहले की आडियो रिकार्डिंग
मृतक सुनील के पिता ने पुलिस को गाँव के एक व्हाट्सएप्प ग्रुप की आडियो रिकार्डिंग भी दी है। आडियो शुक्रवार रात एक बजे मृतक के मोबाइल से आई है। आडियो में मृतक को कुछ लोग पीट रहे हैं। मृतक प्राणों की भीख मांगते हुए छोड़ने की गुहार लगाते हुए कह रहा है कि फैसला ग्राम प्रधान ने कराया था तो मुझे क्यों मार रहे हो?
सीओ बहेड़ी डॉ. तेजवीर सिंह ने वताया कि शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है। आरोपों की जाँच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर जाँच कर आगे की कार्यवाही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!