सिरमौर-हिमाचल प्रदेश/bus accident/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: सिरमौर (Simour) जिले में चलती बस में एक चालक को दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ गया लेकिन मरने से पहले बस को हाईवे से झाड़ियों की तरफ मोड़कर जांबाज चालक ने 24 सवारियों की जान बचा ली।

शुक्रवार शाम सतौन से पांवटा आ रही निजी बस के चालक को राजबन के पास दिल का दौरा पड़ गया। सीने में तेज दर्ज होने के बावजूद बेहोश होने से पहले चालक ने बस को झाड़ियों की तरफ मोड़कर 24 यात्रियों को भयंकर हादसे का शिकार होने से बचा लिया। गंभीर हालत में चालक को सिविल अस्पताल पांवटा पहुंचाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


बस झाड़ियों की तरफ मोड़कर बचाईं 24 जानें


जानकारी के अनुसार, शुक्रवार शाम रेणुकाजी-सतौन से एक निजी बस पांवटा की तरफ आ रही थी। राजबन खनन चेक पोस्ट से करीब 200 मीटर दूरी पर बस चालक अशोक कुमार (46) पुत्र भीम बहादुर निवासी चांदनी पोओ भरोग भनेड़ी को अचानक दिल का दौरा पड़ गया। सीने में तेज दर्द उठा लेकिन चालक ने सूझबूझ से बस को झाड़ियों की तरफ मोड़कर रोक दिया। बस में करीब दो दर्जन सवारियां थीं। लोगों ने चालक को बेहोश हालत में सिविल अस्पताल पांवटा पहुंचाया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर राजबन चौकी पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। डीएसपी पांवटा साहिब बीर बहादुर सिंह ने बताया कि शुरुआती जांच में दिल का दौरा पड़ना निजी बस चालक की मौत कारण माना जा रहा है।

हिमाचल परिवहन के ड्राइवर ने भी बचाई थीं 35 जिंदगियां

मंडी जिले के सरकाघाट में नौ फरवरी 2021 को हिमाचल पथ परिवहन निगम की चलती बस में दिल का दौरा पड़ने से ड्राइवर श्यामलाल (46) की मौत हो गई थी। बस में 35 यात्री सवार थे। बेहोश होने से पहले ड्राइवर श्यामलाल ने भी जैसे-तैसे ब्रेक लगाकर यात्रियों की जानें बचा ली थीं। स्टेयरिंग पर ही बेहोश हो गए ड्राइवर को हमीरपुर अस्पताल के डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!