स्वास्थ्य विभाग द्वारा अभियान चलाकर लगातार की जा रही है बुखार के रोगियों की खून की जाँच

सत्य पथिक वेबपोर्टल/मीरगंज-बरेली/Dengue Fever: मीरगंज इलाके में जानलेवा डेंगू बुखार का डंक पिछले कुछ दिनों से जनजीवन को हलाकान किए हुए है। रविवार 25 सितंबर को भी मीरगंज सीएचसी पर खून की जांच में डेंगू के दो और करौरा गांव में रक्त के सैपल्स की जांच में 15 संदिग्ध रोगी चिह्नित हुए हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा ब्लॉक मीरगंज के समस्त ग्रामों में मलेरिया एवं डेंगू के प्रकोप को रोकने के लिए विभिन्न गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ0 अमित कुमार ने बताया कि 1 अक्टूबर से संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रारंभ हो रहा है। अभियान से जुड़ी समस्त गतिविधियां क्षेत्र में पहले से ही चलाई जा रही हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुखार के रोगियों के खून के सैंपल्स लेकर लगातार बुखार की जांचें कराई जा रही हैं। इसके अलावा आशाओं द्वारा मलेरिया एवं डेंगू की रोकथाम के लिए गांवों में सोर्स रिडक्शन एक्टिविटी, पंचायत राज विभाग की ओर से साफ-सफाई, जनजागरूकता आदि गतिविधियां भी चलाई जा रही हैं। हुरहुरी ग्राम प्रधान सुधा मौर्य और उनकी सास का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मीरगंज में चल रहा है।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 अमित कुमार ने बताया कि आज रविवार को समस्त नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आरोग्य मेलों में बुखार के रोगियों की खून की जांच की गई। इसके साथ ही मीरगंज ब्लाक के ग्राम करौरा में बुखार रोगियों की जांच के लिए विशेष शिविर आयोजित किया गया। ग्राम करौरा के शिविर में रक्त की जाँच के दौरान डेंगू के 15 एवं मीरगंज सीएचसी पर डेंगू के 2 संदिग्ध मरीज मिले। सभी मरीजों को दवा वितरित कर दी गई है। उनके रक्त के नमूने डेंगू की पुष्टि के लिए जिला अस्पताल भेज दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!