लखनऊ/बरेली, सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: नगर निगम बरेली के महापौर डा. उमेश गौतम के सिर एक और ताज सज गया है। उमेश गौतम को महापौर परिषद का प्रदेश अध्यक्ष चुना गया है। लखनऊ में आयोजित समारोह में प्रदेश भर के मेयर मौजूद रहे। महापौर परिषद का अध्यक्ष बनने के बाद डा. उमेश गौतम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात की। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने उन्हें बधाई दी। नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना आदि से भी मिले।

मंगलवार को लखनऊ में महापौर परिषद के अधिवेशन की शुरुआत हुई। पहले सत्र का शुभारंभ उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने किया। महापौर परिषद के अधिवेशन में प्रदेश के विभिन्न नगर निगम के मेयर भी शामिल हुए। अधिवेशन के दूसरे सत्र में नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने संबोधित किया। इसके बाद बरेली के मेयर डा. उमेश गौतम को उत्तर प्रदेश महापौर परिषद का अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा हुई। इसके बाद डा. उमेश गौतम को प्रदेश भर से बधाइयां मिलने का सिलसिला शुरू हो गया।

यूपी के महापौरों के अधिकार बढ़ाने पर चर्चा

अधिवेशन के बाद जैसे ही डा. उमेश गौतम को उत्तर प्रदेश महापौर परिषद के अध्यक्ष पद के लिए चुना गया,  उन्होंने शासन स्तर पर महापौरों की समस्याएं उठाने के साथ ही उनके अधिकार बढ़ाए जाने को लेकर भी चर्चा छेड़ दी है। अधिवेशन के बाद प्रदेश भर से आए महापौरों के अधिकारों को बढ़ाने के साथ ही एक राष्ट्र, एक निकाय, एक नियमावली बनाए जाने पर जोर दिया गया। मेयर डा. उमेश गौतम ने कहा कि जब तक महापौर मजबूत नहीं होंगे, तब तक नगर निकाय मजबूत नहीं होंगे।

इस दौरान मुख्य अतिथि दिनेश शर्मा ने कहा कि महापौर बुद्घिजीवियों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसलिए उनके लिए नामुमकिन कुछ भी नहीं है। नगर क्षेत्रों में स्वच्छता का स्वरूप दिखना चाहिए। सरकार उनके साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि महापौर का पद कांटों का ताज है, लेकिन जब महापौर राजनीति के साथ सामाजिक कार्य भी करेंगे तो उन्हें आसानी रहेगी। बरेली के मेयर ने सरकार की योजनाओं को आमजन तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!