पीलीभीत, सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क:  पीलीभीत-बरेली रेल खंड पर विद्युतीकरण का काम पूरा हो चुका है। अब कार्य की गुणवत्ता को परखने के लिए 21 फरवरी को रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) मोहम्मद लतीफ खान निरीक्षण करेंगे। निरीक्षण में सब कुछ ठीक रहा तो इस रूट पर जल्द ही यात्रियों को इलेक्ट्रिक ट्रेनों में सफर करने का मौका मिल सकता है। निरीक्षण को लेकर कार्यदायी संस्था और रेल प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

बता दें कि कार्यदायी संस्था के अधिकारियों ने 100किमी प्रति घंटा की स्पीड से इलेक्ट्रिक लोको इंजन दौड़ाकर स्पीड ट्रायल भी कर लिया है। इसके बाद छह फरवरी को गोरखपुर मुख्यालय से आए चीफ इलेक्ट्रिक डायरेक्टर ने निरीक्षण किया था। निरीक्षण में कुछ खामियां मिलने पर तत्काल दुरुस्त कराने के निर्देश दिए थे। इसके बाद जल्द ही सीआरएस निरीक्षण के कयास लगाए जा रहे थे।

इज्जतनगर मंडल को सीआरएस के निरीक्षण की डेट संबंधी पत्र भी मिल चुका है।  सीआरएस मोहम्मद लतीफ खान 21 फरवरी को बरेली से पीलीभीत के बीच विद्युतीकरण कार्य का निरीक्षण करेंगे। इसमें पावर हाउस, विद्युत लाइन, सिग्नल, ट्रेन चलाने के लिए पैनल रूम का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। इसके बाद स्पीड ट्रायल करेंगे।

सीआरएस निरीक्षण की डेट तय होने के बाद कार्यदायी संस्था और रेल प्रशासन के संबंधित अधिकारी-कर्मचारी पूरे उत्साह से तैयारियों में जुट गए हैं। सीआरएस निरीक्षण में सब कुछ ठीक रहा तो इस रूट पर जल्द ही ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा। इस संबंध में इज्जतनगर मंडल के पीआरओ राजेंद्र सिंह ने बताया कि सीआरएस निरीक्षण को लेकर पत्र मिला गया है। पत्र में 21 फरवरी को निरीक्षण की तारीख है।

जल्द मिलेगा इलेक्ट्रिक ट्रेनों पर सफर का मौका

मीटरगेज की ट्रेनों का संचालन बंद होने के बाद पूर्वोत्तर रेलवे के बरेली-पीलीभीत खंड का आमान परिवर्तन का काम पूरा होने पर पहली बार 2016 में ब्रॉडगेज की पैसेंजर ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ था। दो एक्सप्रेस ट्रेनों का तोहफा भी मिला था। अब इलेक्ट्रिक ट्रेनों पर सफर करने का मौका यात्रियों को जल्द ही मिलने जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!