सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/Congress Presidential Election: कांग्रेस में अगले महीने प्रस्तावित अध्यक्ष पद के चुनाव में पारदर्शिता, निष्पक्षता सुनिश्चित कराने को लेकर मनीष तिवारी, शशि थरूर, कार्ति चिदंबरम समेत पांच वरिष्ठ सांसदों ने पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री को पत्र लिखा है।

थरूर मधुसूदन मिस्त्री को पहले भी ऐसा ही पत्र लिख चुके हैं। मनीष तिवारी ने भी कहा था कि पारदर्शी मतदाता सूची के बिना कांग्रेस अध्यक्ष पद के निष्पक्ष चुनाव कैसे होंगे? उन्होंने मांग की कि निष्पक्ष चुनाव के लिए पार्टी के मतदाताओं के नाम-पता प्रकाशित किए जाने चाहिए।कांग्रेस के इन पांच वरिष्ठ सांसदों ने इस पत्र में लिखा है कि मतदाताओं और उम्मीदवारों को ऐसी लिस्ट मुहैया कराई जानी चाहिए जिसमें PCC के डेलिगेट्स और इलेक्टोरल कोलाज (वोट डालने वालों) के नाम हों। इससे अनुचित मनमानी नहीं हो पाएगी।

कांग्रेस के लोकसभा सदस्य शशि थरूर, मनीष तिवारी, कार्ति चिदंबरम, प्रद्युत बोरदोलोई और अब्दुल खलीक ने मधुसूदन मिस्त्री को लिखे पत्र में कहा है कि नामांकन प्रक्रिया शुरू होने से पहले पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (सीईए) को प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के प्रतिनिधियों की एक सूची प्रकाशित करनी चाहिए जो निर्वाचक मंडल बनाते हैं ताकि यह सत्यापित किया जा सके कि कौन उम्मीदवार नामित करने और कौन वोट देने का हकदार है?

कांग्रेस के नए अध्यक्ष का चुनाव 17 अक्टूबर को होगा। 19 अक्टूबर को काउंटिंग होगी। 22 सितंबर को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। 24 सितंबर तक नॉमिनेशन किया जा सकता है। 30 सितंबर तक नामांकन पत्र वापस लिए जा सकेंगे। जरूरत पड़ी तो 17 अक्टूबर को मतदान कराया जाएगा। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि यह खुला चुनाव है। इसमें कोई भी हिस्सा ले सकता है।

गहलोत, दिग्विजय, शशि थरूर लड़ सकते हैं चुनाव

कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव कौन-कौन लड़ेगा इसको लेकर अभी कुछ साफ नहीं है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत इस चुनाव में उम्मीदवार हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!