सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Health: स्वयंसेवी संस्था कोर एड्रा की ओर से शनिवार को ग्लोबल हाथ धुलाई दिवस पर जगह-जगह हाथ धुलाई कार्यक्रम कराया गया। प्राथमिक विद्यालय चुरई दलपतपुर में बच्चों को हाथ धोने का महत्व बताया गया। शिक्षक डा. रोहिताश गंगवार एवं बीएमसी अमिताभ शुक्ला ने सभी बच्चों के हाथ धुलवाए और उन्हें हाथ धोने के फायदे और सही तरीके भी बताए।

इसी प्रकार ग्राम सुजातपुर में घुमंतू परिवारों के बच्चों के साथ आशा हीरा कली, बीएमसी अमिताभ शुक्ला एवं पूर्व सीएमसी मोहन स्वरूप द्वारा बच्चों के हाथ धुलवाए गए और उन्हें हाथ धोने के सही भी तरीके बताए गए। बताया गया कि शरीर, घर और आसपास की नियमित रूप से साफ-सफाई करते रहने पर जानलेवा संक्रामक बीमारियों से काफी तक बचा जा सकता है। बीएमसी अमिताभ शुक्ला ने बताया कि अगर 5 साल से छोटे बच्चों की साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए तो उन्हें होने वाली 30 प्रतिशत बीमारियों को रोका जा सकता है। नियमित साफ-सफाई का मंत्र अपनाकर कोविड महामारी का फैलाव हम सब 36 फीसद तक रोककर दिखा भी चुके हैं।

इसी क्रम में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मीरगंज पर चिकित्सा अधीक्षक डा. अमित कुमार के नेतृत्व में समस्त स्टाफ के साथ हाथ धुलाई का कार्यक्रम किया गया। बीएमसी अमिताभ शुक्ला और अधीक्षक डॉ. अमित कुमार ने लोगों को हाथ धोने के तरीके बताए गए और अन्य लोगों को साफ सफाई के लिए प्रेरित करने को भी कहा। गया।

डाॅ. अमित ने बताया कि हाथ धोने के 6 स्टेप्स को SUMAN K के माध्यम से रोचक ढंग से समझाया।
S. सामने – हाथ को गीला करके साबुन लगाकर आमने-सामने रगड़ेंगे।
U. उल्टा – फिर हाथ को उल्टी साइड से रगड़ेंगे।
M. मुट्ठी – मुट्ठी बांधकर हथेलियों पर रगड़ें।
A. अंगूठा – अंगूठों को पकड़ लें और रगड़कर साफ़ करें।
N. नाखून – दोनों हाथों के नाखूनों को बारी-बारी से रगड़कर साफ़ करें।
K. कलाई -अंत में कलाई को भी अच्छी तरह साफ करें।
डाॅ. अमित ने बताया कि सभी छह स्टेप्स SUMAN K में हाथ धोने में 20 से 30 सेकंड का समय लगाएं। इस अवसर पर समस्त बीपीएम पुनीत कुमार सक्सेना, प्रतिरक्षण अधिकारी धनेश्वर गिरी, विनयपाल भदौरिया भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!