दिल्ली में मंगलवार को मोदी, शाह से भेंट के बाद कल ही हो सकती है घोषणा

सत्य पथिक वेबपोर्टल/मुम्बई/Shock to Uddhav faction again: महाराष्ट्र में शिवसेना के अधिकांश सांसद भी उद्धव ठाकरे का साथ छोड़कर शिंदे गुट में जाने को तैयार बैठे हैं। सोमवार को ऑनलाइन हुई शिंदे गुट की बैठक में शिवसेना के 18 में से 14 सांसदों ने हिस्सा लिया। राष्ट्रपति चुनाव के बाद अब 14 शिवसेना सांसदों ने शिंदे ग्रुप को समर्थन देने के साफ संकेत दे दिए हैं।

यही नहीं, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़णवीस आज रात ही 12 शिवसेना सांसदों को लेकर दिल्ली जाएंगे और गृह मंत्री अमित शाह और पीएम मोदी से मिलेंगे। दोनों से भेंट के बाद इन सांसदों की कल ही सामूहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी हो सकती है।

शिंदे ने बरकरार रखा उद्धव का शिवसेना प्रमुख पद
इससे पहले आज शिवसेना शिंदे गुट की बड़ी बैठक में मौजूदा कार्यकारिणी को भंग करके नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा की गई है। सीएम शिंदे को शिवसेना का नया नेता भी इस बैठक में चुना गया है।हालांकि, शिवसेना प्रमुख के उद्धव ठाकरे के पद को फिलहाल बरकरार रखा गया है। विधायक दीपक केसरकर को शिवसेना का नया प्रवक्ता बनाया गया है। रामदास कदम, आनंदराव अडसुली को नेता और यशवंत जाधव, गुलाबराव पाटिल, उदय सामंत, शरद पोंकशे, तानाजी सावंत, विजय नाहटा, शिवाजीराव अधराव पाटिल को उप नेता नियुक्त किया गया है।

‘अयोग्य’ विधायकों को किसने दिया कार्यकारिणी भंग करने का अधिकार?
राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा- जिसे खुद बालासाहेब ठाकरे ने बनाया था, आज उसी कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है।कार्यकारिणी भंग करने वाले विधायकों पर खुद ‘अयोग्यता’ की तलवार लटक रही है। संजय राउत ने कहा कि अगर हमारे कुछ एमपी भी उनके साथ जुड़ गए हैं तो उसके लिए भी कानूनी लड़ाई चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!