तहसील दिवस प्रभारी एडीएम को सौंपा ज्ञापन, शुक्रवार को एक प्रधान और सचिव ने थाने में दी थीं तहरीरें

सत्य पथिक वेबपोर्टल/मीरगंज-बरेली/Prashant agitated against panchayat sachivs: शनिवार को मीरगंज तहसील दिवस में विकास क्षेत्र के ग्राम प्रधानों ने पंचायत सचिवों के कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ लामबंद होकर ब्लॉक परिसर से तहसील कार्यालय तक विरोध जुलूस निकाला और भ्रष्ट पंचायत सचिव मुर्दावाद और प्रधान संघ एकता जिन्दाबाद के नारे लगाए। साथ ही तहसील दिवस प्रभारी एडीएम को इसी आशय का ज्ञापन भी सौंपा।

बता दें कि कल शुक्रवार को एक ग्राम प्रधान ने मीरगंज थाने में पंचायत सचिव पर कमीशन लिये बगैर भुगतान नहीं करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी जबकि पंचायत सचिव ने भी प्रधान के विरुद्ध जान का खतरा बताते हुए तहरीर दी थी।
आज शनिवार को कई दर्जन ग्राम प्रधान प्रधान संघ अध्यक्ष सोनू कुर्मी के नेतृत्व में नारेबाजी करते हुये ब्लॉक कार्यालय से मीरगंज तहसील सभागार स्थित तहसील दिवस में पहुँचे। प्रधानों का आरोप है कि कोई भी पंचायत सचिव विकास कार्य में बिना कमीशन लिये भुगतान करने को तैयार ही नहीं है। यहाँ तक कि पंचायत सचिवों ने व्यक्तिगत ठेकेदार तय कर रखे हैं और इनसे अपनी मोटी कमीशन बांध रखी है। सभी पंचायत सचिव प्रधानों पर उन्हीं व्यक्तिगत ठेकेदारों से काम कराने पर ज़ोर डालते हैं और कहना न मानने पर उनका पेमेंट रोक देते हैं।

शुक्रवार को कमीशन की ही बात को लेकर एक प्रधान और पंचायत सचिव आमने-सामने आ गये थे। मामले ने तूल पकड़ा तो दोनों ने मीरगंज थाने में एक दूसरे के खिलाफ जान का खतरा बताते हुये तहरीरें भी दी थीं। इनकी जाँच अभी चल रही हैं। प्रधान संघ के बैनर तले सभी प्रधानों ने तहसील दिवस के दौरान एडीएम को ज्ञापन भीं सौंपा। ज्ञापन सौपने वालों में प्रधान संघ अध्यक्ष सोनू कुर्मी, गजेंद्र कुमार, हरीश कुमार, महिपाल, फिरोज, उर्मिला देवी, राहुल, प्रेम पाल, आरती देवी, धर्मपाल, राहत हुसैन सहित बड़ी संख्या में प्रधान और उनके पति मौजूद रहे।

एडीएम ने एसडीएम को सौंपी जांच

मीरगंज तहसीलदार रश्मि कुमारी ने बताया कि एडीएम वित्त संतोष बहादुर सिंह ने मामले की जांच एसडीएम मीरगंज को सौंपी है। जांच में जो भी निकलकर आएगा, उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!