जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी का खुला इल्ज़ाम- सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को पलीता लगा रहे एडीओ कृषि

सत्य पथिक वेबपोर्टल/मीरगंज-बरेली/Hungama in Meerganj BDC Meeting: मंगलवार को मीरगंज ब्लॉक सभागार में ब्लॉक प्रमुख गोपाल कृष्ण गंगवार की अध्यक्षता और बीडीओ हरशेंद्र कुमार यादव के संचालन में क्षेत्र पंचायत (बीडीसी) की हंगामेदार मीटिंग में दो करोड़ रुपये के विकास कार्यों के प्रस्ताव पारित कराए गए।

बैठक में विभिन्न विभागों के तमाम अधिकारी नदारद रहे तो एडीओ कृषि समेत कई आदतन काफी देरी से पहुंचे जिससे ग्राम प्रधानों और क्षेत्र पंचायत सदस्यों का पारा सातवें आसमान पर चढ़ा रहा और पूरी मीटिंग में उन्होंने जमकर हंगामा काटा। जनप्रतिनिधियों के सबसे ज्यादा निशाने पर रहे एडीओ कृषि सब्बर अली। उन पर सरकार की कल्याणकारी कृषि योजनाओं को पलीता लगाने का इल्जाम भी लगा। अफसरों पर प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों और जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी के आक्रामक सवालों में से एक का भी कोई माकूल जवाब देते नहीं बना और कन्नी काटते या हमलों से बचते देखे गए।

क्षेत्र पंचायत की यह पूर्व निर्धारित मीटिंग मंगलवार सुबह 11 बजे निश्चित समय पर शुरू हुई लेकिन एडीओ क़ृषि सब्बर अली डेढ़ घंटा देरी से दोपहर 12:30 बजे पहुँच पाए। लेटलतीफ एडीओ कृषि को जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी ने आड़े हाथों ले लिया। पूछा- श्रीमानजी अब तक कहाँ थे? एडीओ बगलें झांकते नज़र आये। जैसे ही एडीओ ने बोलना शुरू किया, निरंजन यदुवंशी ने पूछा -जो 20-25 कुंतल लाही और मसूर का बीज किसानों को बांटने के लिये ब्लाॅक पर आया था, वह कहाँ गया? किसी को बांटा हो तो ब्योरा दें?

एडीओ क़ृषि सब्बर अली के पास निरंजन के इस सवाल का भी कोई जवाब नहीं था। एडीओ क़ृषि से प्रधान संघ अध्यक्ष सोनू कुर्मी ने भी किसानों के हित से जुड़े कई सवाल पूछे। उनका भी एडीओ कृषि जवाब नहीं दे पाए। जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी ने एडीओ कृषि सब्बर अली से पूछा कि क्या आप किसी प्रधान या किसान को व्यक्तिगत रूप से जानते हो? इस एडीओ क़ृषि सब्बर अली ने कह दिया कि मैं किसी प्रधान को नहीं जानता। सभी प्रधान मुझे जानते हैं। जिसको जरुरत हो, वो मुझे जाने।

मीटिंग के दौरान ब्लॉक के बाबू एक प्रधान से पूछ बैठे कि क्या जिला पंचायत ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी से जन्म प्रमाणपत्र के पैसे लेना बंद कर दिया है, या नहीं? इस पर भी जमकर हंगामा हुआ। जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी ने बताया कि करमपुर में कोई सफाई कर्मचारी नहीं है। पूरे गांव की सफाई व्यवस्था ध्वस्त पड़ी है। चुरई दलपतपुर प्रधान ने बिजली विभाग के संविदा कर्मचारी मुजफ्फर और शाकिर पर कई आरोप लगाए और दोनों को फौरन हटाने की मांग की।

स्वास्थ्य विभाग से आए चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि गांवों में ANM-आशा और प्रधान के संयुक्त बैंक खाते खुलवाए गए हैं। उन्होंने जननी सुरक्षा योजना, शिशु सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय बाल एवं किशोर स्वास्थ्य योजना, 102 एंबुलेंस आदि के बारे में उपयोगी और जागरूकता बढ़ाने वाली जानकारियां साझा कीं। हालांकि कई प्रधानों, बीडीसी मेंबरों ने उनके गांवों में संयुक्त खाते अभी तक नहीं खुल पाने की जानकारी देते हुए असंतोष जताया। उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी (डिप्टी सीवीओ) ने बताया कि जिन पशुओं में लम्पी बीमारी के लक्षण दिखें, उन्हें स्वस्थ पशुओं से दूर रखे। मवेशियों को जानलेवा लम्पी वायरस से बचाने के लिये वैक्सीन भी लगाई जाएगी। इस पर कई प्रधानों का खुला आरोप था कि मीरगंज के सरकारी मवेशी अस्पताल में पशुओं का इलाज करवाने पर प्राइवेट से ज्यादा फीस देनी पड़ रही है। मीटिंग में जल निगम के जेई इमामत हुसैन समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

क्षेत्र पंचायत मीटिंग में ब्लॉक प्रमुख गोपाल कृष्ण गंगवार, जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी, जिला पंचायत सदस्य केपी राजपूत, भाजपा जिला महामंत्री सोमपाल शर्मा, मीरगंज विधानसभा प्रभारी भगवान सिंह, मण्डल अध्यक्ष तेजपाल फ़ौजी, प्रधान संघ अध्यक्ष सोनू कुर्मी आदि ने भी विचार रखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!