बोले श्रीलंकाई ऊर्जा मंत्री कंचना विजेसेकारा, कहा-ईंधन आपूर्ति के लिए रूस से भी चल रही बात

सत्य पथिक वेबपोर्टल/कोलंबो-नई दिल्ली/Sri Lanka Crisis: आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के ऊर्जा मंत्री कंचना विजेसेकारा ने भारत की तारीफ करते हुए कहा है कि अभी तक एकमात्र भारत ने ही इस संकट में श्रीलंका की कई बार मदद की है।

ईंधन के लिए चीन, भारत और अन्य देशों से मदद मांगने के सवाल पर ऊर्जा मंत्री विजेसेकारा ने बताया कि हमने मित्र देशों से ईंधन की मदद मांगी है। उन्होंने कहा कि संकट के इस दौर में केवल भारत सरकार ने ही श्रीलंका की कई बार मदद की है. उन्होंने ईंधन संकट पर अपने बयान में यूक्रेन, रूस और भारत का तो जिक्र किया लेकिन चीन का नाम नहीं लिया। कंचना विजेसेकारा ने बताया कि ईंधन की आपूर्ति के लिए हम रूस के संपर्क में भी हैं। हमने उन्हें अपनी जरूरतें बता दी हैं। इंतजार में हैं कि ईंधन आपूर्ति कब और किस तरह की जाएगी?’

श्रीलंका को मदद देता रहेगा भारत
भारत के उच्चायुक्त गोपाल बागले ने श्रीलंका संसद के अध्यक्ष महिंदा यापा अभयवर्धने को आश्वस्त किया भारत श्रीलंका में लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने और यहां के जरूरतमंद लोगों की हरसंभव मदद आगे भी करता रहेगा। इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी कह चुके हैं कि भारत पड़ोसी श्रीलंका को मौजूदा अभूतपूर्व संकट से बाहर निकालने के लिए यथासंभव मदद पहुंचाने की पूरी कोशिश कर रहा है।

भाई की तरह मदद कर रहा भारत

श्रीलंकाई क्रिकेटर चमिका करुणारत्ने ने भी कहा है कि भारत भाई की तरह हमारी बहुत मदद कर रहा है। आज हम जब समस्याओं से जूझ रहे हैं तो भारत ने ही हमारी मदद के लिए अपने हाथ बढ़ाए हैं। समर्थन कर रहे हैं. इसके लिए भारत का धन्यवाद।

नेशनल फ्यूल पास योजना लागू
एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, फिलहाल, श्रीलंका में पेट्रोल-डीजल, सीएनजी स्टेशनों के बाहर कई-कई किलोमीटर लंबी लाइनें लग रही हैं। ऊर्जा मंत्री कंचना विजेसेकारा ने शनिवार को ईंधन की ब्लैक मार्केटिंग को रोकने के लिए नेशनल फ्यूल पास योजना की शुरुआत की। यह एक ईंधन राशनिंग योजना है। इसके तहत एक आईडी कार्ड या पास जारी किया जाएगा। इस आईडी कार्ड को दिखाने पर एक सप्ताह में एक वाहन चालक को दो बार तेल दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!