सत्य पथिक वेबपोर्टल/एडिलेड-आस्ट्रेलिया/T-20 World Cup: टी20 वर्ल्ड कप 2022 के एक अहम मुकाबले में बांग्लादेश को डकवर्थ लुईस नियम के तहत 5 रनों से हराकर भारत अपने ग्रुप में टाॅप पर और सेमीफाइनल के और करीब पहुंच गया है।

एडिलेड ओवल में खेले गए मुकाबले में टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए भारतीय टीम ने छह विकेट पर 184 रन बनाए थे। इसके बाद बारिश की वजह से बांग्लादेश को 16 ओवर में 151 रनों का टारगेट मिला था, लेकिन वह छह विकेट पर 145 रन ही बना सकी। बांग्लादेश के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद भारतीय टीम अपने ग्रुप में टॉप पर पहुंच चुकी है और उसके लिए सेमीफाइनल में पहुंचने की राह काफी आसान हो गई है।

अब अगले मैच में भारत जिम्बाब्वे को हराकर आसानी से सेमीफाइनल में पहुंच सकता है। जिम्बाब्वे के खिलाफ जीत हासिल करने पर भारत के आठ अंक हो जाएंगे, जहां तक पहुंचना पाकिस्तान और बांग्लादेश के लिए असंभव होगा। लेकिन यदि भारत अपेक्षाकृत कमजोर जिम्बाब्वे से हार गया तो फिर बांग्लादेश या पाकिस्तान के साथ नेट-रन रेट के आधार पर सेमीफाइनल का फैसला होगा।

अंतिम चार की दौड़ से दूर हुआ पाकिस्तान
बांग्लादेश के खिलाफ भारत की जीत का मतलब यह है कि वर्ल्ड कप में पाकिस्तानी टीम का आगे का सफर अब काफी मुश्किल या लगभग खत्म हो चुका है। पाकिस्तान यदि साउथ अफ्रीका के खिलाफ मुकाबला हार जाता है तो बाबर ब्रिगेड प्रतियोगिता से बाहर हो जाएगी। पाकिस्तान साउथ अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ मैच जीत भी लेता है तो भी उसके छह अंक ही रहेंगे।

ऐसे में पाकिस्तान उम्मीद करेगा कि जिम्बाब्वे बांग्लादेश को, जबकि नीदरलैंड साउथ अफ्रीका को पराजित करे। ऐसी स्थिति में वह साउथ अफ्रीका को अंकों के आधार पर पीछे छोड़ सकता है या वह भारत को नेट-रन रेट में पछाड़कर अंतिम चार में इंट्री मार सकता है। कुल मिलाकर कहें तो बांग्लादेश के खिलाफ भारत की जीत के चलते पाकिस्तान का सेमीफाइनल में जाना काफी मुश्किल है।

बांग्लादेश भी सेमीफाइनल की दौड़ से लगभग ‘आउट’
बांग्लादेश की स्थिति भी अब पाकिस्तान की तरह ही है। उसे भी सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए अब पहले पाकिस्तान को हराना होगा। साथ ही भारत की जिम्बाब्वे और साउथ अफ्रीका की पाकिस्तान और नीदरलैंड के खिलाफ हार की दुआ करनी होगी। इन सभी समीकरणों के माफिक होने पर ही अब बांग्लादेश सेमीफाइनल में पहुंच पाएगा। साउथ अफ्रीका के लिए समीकरण साफ है। यदि वह पाकिस्तान या नीदरलैंड से मैच जीत लेती है तो उसका सेमीफाइनल की सीट पक्की हो जाएगी।

ऐसा रहा इंडो-बांग्लादेश मुकाबला
भारतीय टीम ने टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए 6 विकेट पर 184 रनों का स्कोर खड़ा किया था। केएल राहुल ने फॉर्म में वापसी करते हुए 32 बॉल में तीन चौकों, चार छक्कों की मदद से 50 रन बनाए। वहीं सूर्यकुमार यादव ने चार चौकों की मदद से 16 बॉल पर 30 रनों की पारी खेली। विराट कोहली ने सबसे ज्यादा नाबाद 64 रनों का योगदान दिया। बांग्लादेश की ओर से हसन महमूद ने सबसे ज्यादा तीन विकेट चटकाए। वहीं शाकिब अल हसन को दो सफलताएं प्राप्त हुईं। जवाब में बांग्लादेश की टीम पुनर्निधारित 16 ओवरों में छह विकेट पर 145 रन ही बना सकी। लिटन कुमार दास ने अपनी तूफानी पारी के दम पर एक वक्त भारतीय टीम के होश उड़ा दिए थे लेकिन बारिश की वजह से बांग्लादेशी पारी का तारतम्य गड़बड़ा गया और वह टारगेट तक नहीं पहुंच पाई। लिटन दास ने 27 बॉल पर सात चौकों और तीन छक्कों की बरसात करते हुए 60 रनों की शानदार पारी खेली। वहीं, नुरुल हसन ने नाबाद 25 और नजमुल हुसैन संतो ने 21 रन बनाए। भारत की ओर से अर्शदीप सिंह और हार्दिक पंड्या ने दो-दो विकेट लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!