सत्य पथिक वेबपोर्टल/फतेहगंज पश्चिमी-बरेली/Warm Welcome: भारत भ्रमण पर नकले झारखंड के साइकिल यात्री अधिराज बरुआ का मंगलवार को कस्बा फतेहगंज पश्चिमी और ग्रामीण क्षेत्र में जगह-जगह फूलमालाओं से लादकर जोरदार स्वागत किया गया।

झारखंड के साइकिल यात्री अधिराज बरुआ का फतेहगंज पश्चिमी थाना क्षेत्र के गांव खिरका जगतपुर में भारत यात्रा कर चुके प्रमुख समाज सेवी अध्यापक ओमपाल सिंह यदुवंशी और अन्य ग्रामीणों ने फूलमाला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। ओमपाल यदुवंशी के निवास पर जलपान के बाद रात्रि विश्राम किया। इस दौरान यहां की संस्कृति, खेत-खलिहान और भारत यात्रा के विषय में चर्चा की गई। आज मंगलवार सुबह फतेहगंज पश्चिमी कस्बे के यूनिक मॉडल इंटर कॉलेज में साइकिल यात्री अधिराज बरुआ का स्कूल प्रबंधक रमन जायसवाल, प्रधानाचार्य जसवीर सिंह, फतेहगंज पश्चिमी चेयरमैन कृष्णपाल मौर्य, भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय चौहान, ओमपाल यदुवंशी, गणेश गोपाल, चंपत राम ने फूल माला पहनाकर स्वागत किया और सूक्ष्म जलपान भी कराया। प्रशांत पब्लिक स्कूल में भी साइकिल यात्री अधिराज बरुआ का स्कूल प्रबंधक अनुज कुमार सिंह, भानु प्रताप, ओमपाल यदुवंशी, लालता प्रसाद, निशांत सर, मुनीश कुमार, प्रदीप कुमार शर्मा आदि ने स्वागत किया।

इसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में अधिराज बरुआ (उम्र 27 वर्ष) ने बताया कि वह झारखंड के जिला जमशेदपुर कस्बा टाटानगर के रहने वाले हैं, 1 एक अक्टूबर 2021 को साइकिल से भारत यात्रा की शुरुआत की। उन्होंने बताया कि दक्षिण भारत, पूर्वी भारत, पश्चिमी भारत और उत्तर भारत के 22 राज्यों का राज्य भ्रमण कर चुके हैं। पांच दिन पहले उत्तराखंड के ॠषिकेश, हरिद्वार, रुड़की होते हुए सप्ताह भर पहले से बिजनौर से यूपी में प्रवेश किया था और मुरादाबाद, रामपुर का भ्रमण करते हुए कल 26 सितंबर सोमवार को यहां पहुंचे हैं। इससे पहले मीरगंज के हुरहुरी गांव में श्रीमती कमला देवी मेमोरियल इंटर कॉलेज में स्कूल प्रबंधक प्रेमपाल गंगवार, अध्यापक और ग्रामीणों ने भी उनका स्वागत किया था।

साइकिल से भारत भ्रमण का उद्देश्य पूछने पर अधिराज बरुआ ने बताया कि विश्व शांति, राष्ट्रीय एकता, शिक्षा के प्रचार-प्रसार और पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए युवाओं को प्रेरित करना इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य है। उनके पिताजी भी 1987 में साइकिल से ही पूरे भारत का भ्रमण कर चुके हैं। उन्हीं की प्रेरणा से ही मैंने भी भारत भ्रमण करने का संकल्प लिया है। उन्होंने बताया कि बरेली से लखनऊ होते हुए बिहार, बंगाल, आसाम, पूर्वोत्तर राज्यों का भ्रमण कर झारखंड में 1 मार्च 2023 को यात्रा का समापन करेंगे। हंसी मजाक और बातचीत के दौरान अधिराज से उनकी उम्र और तंदुरुस्ती का राज़ पूछा तो उन्होंने हंसकर बताया कि उनकी उम्र 27 वर्ष है। उनकी अभी शादी नहीं हुई है। वह अभी अविवाहित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!