सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/Delhi LG suspends 11 officers alongwith Excise Commissioner: दिल्ली में शराब नीति पर केजरीवाल सरकार के साथ चल रही खींचतान के बीच LG वीके सक्सेना ने तत्कालीन आबकारी आयुक्त अरवा गोपी कृष्णा समेत आबकारी विभाग के 11 अधिकारियों को आबकारी नीति को लागू करने में गंभीर खामियां बरतने पर सस्पेंड कर दिया है।

शनिवार को जहां एक ओर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पूर्व LG अनिल बैजल पर निशाना साधा; वहीं बीजेपी नेताओं को एलजी के इस फैसले के बाद केजरीवाल सरकार पर हमलावर होने का मौका मिल गया है। भाजपा सांसद मनोज तिवारी, पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा और प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने एलजी के इस फैसले को सही बताते हुए इसका स्वागत किया है और केजरीवाल सरकार पर करारे प्रहार किए हैं।

एलजी वीके सक्सेना ने शनिवार को एक्शन लेते हुए दिल्ली के तत्कालीन आबकारी आयुक्त अरवा गोपी कृष्ण और तत्कालीन उपायुक्त आनंद कुमार तिवारी के खिलाफ निलंबन और अनुशासनात्मक कार्यवाही शुरू करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही आबकारी विभाग के 9 अन्य अधिकारियों को निलंबन भी कर दिया है। एलजी ने यह आदेश संबंधित अधिकारियों की ओर से आबकारी नीति के कार्यान्वयन में गंभीर चूक के मद्देनजर लिया है। इसमें टेंडर देने में अनियमितताएं बरतने और चुनिंदा विक्रेताओं को पोस्ट टेंडर लाभ प्रदान करना शामिल है।

मनीष सिसोदिया ने क्या कहा था?
इससे पहले शनिवार को ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पूर्व उपराज्यपाल अनिल बैजल पर अनधिकृत क्षेत्रों (Unauthorized Areas) में शराब की दुकानें खोलने पर अपना रुख बदलने का आरोप लगाया। कहा कि दिल्ली में नई एक्साइज पॉलिसी को रोककर सरकार को नुकसान पहुंचाया गया। मनीष सिसोदिया ने सवाल पूछते हुए कहा कि एलजी ने यह फैसला किसके कहने पर लिया? सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने मामले का विवरण केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को भेज दिया है।

संबित पात्रा बोले-केजरीवाल ने गड़बड़ियां कीं

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने नई शराब नीति में गड़बड़ियां की थीं जबकि एलजी ने नियमों के मुताबिक ही आदेश दिए हैं। ब्लैक लिस्टेड कंपनियों को न टेंडर दिया जा सकता है न ही वह ठेके खोल सकती हैं, लेकिन ब्लैक लिस्टेड कंपनियों ने भी ठेके खोल रखे थे। उन्होंने कहा कि कारटेल भी टेंडर में अलाउ नहीं होता, लेकिन इसे भी मनीष सिसोदिया ने अलाउ किया था। उन्होंने कहा कि नई शराब नीति में केजरीवाल ने गड़बड़ियां की हैं।

मनोज तिवारी बोले- जरूर मिलेगी खराब नीति के पाप की सजा

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना के एक्शन का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि शराब की खराब नीति को दिल्ली पर थोपकर जो पाप मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल ने किया है, उसकी सजा उनको जरूर मिलेगी। वह गुनाहों पर पर्दा डालने के लिए कितनी ही सफाई क्यों न दें? दिल्ली के खिलाफ केजरीवाल की बुरी साजिश का अंत भी बुरा ही होगा। सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि आज की बड़ी कार्रवाई से यह साबित हो चुका है कि जांच की आंच से मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल भी ज्यादा दिन बच नहीं पाएंगे। उन्हें भी जल्दी ही कोई बड़ी सजा मिलने वाली है। इसके बाद दिल्ली की जनता का सामना करने का साहस न केजरीवाल में होगा, न मनीष सिसोदिया में।
मनोज तिवारी ने कहा कि एक-एक कर सारे सबूत दिल्ली की केजरीवाल सरकार के खिलाफ उनकी दिल्ली विरोधी नीतियों को उजागर कर रहे हैं। दिल्ली का हर व्यक्ति अब यह जान गया है कि शराब नीति दिल्ली को बर्बाद करने के लिए थी। यह साजिश स्वयं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बड़े घोटाले को अंजाम देकर अपने स्वार्थ के लिए रची थी. जांच से इसका राज भी बेनकाब हो जाएगा।

दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार नई शराब नीति लाई थी, इसके लिए जो कमेटी बनी, उसके चेयरमैन मनीष सिसोदिया और सतेंद्र जैन थे। शराब से जो फायदा हुआ, उसका पैसा पंजाब चुनाव में लगाया गया।
आदेश गुप्ता ने सवाल पूछा कि नई शराब पॉलिसी का चेयरमैन कौन था? ग्रुप और मिनिस्टर का चेयरमैन कौन था,? इन दोनों के हेड डिप्टी सीएम थे? दिल्ली में ड्राई डे कम कर दिए गए, बीयर के इंपोर्ट पर भी 50 फीसदी ड्यूटी फीस माफ की गई। पंजाब के चुनाव में पैसे का इस्तेमाल करना था, इसलिए जल्दबाजी में शराब पॉलिसी लेकर आए। उन्होंने कहा कि  नवंबर से अभी तक डिप्टी सीएम चुप क्यों रहे? दिल्ली की जनता की जीत और शराब के दलालों की हार हुई है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!