इलाहाबाद हाईकोर्ट की एकल पीठ ने मथुरा जिला जज को चार माह में विवाद के निपटारे के दिए आदेश

सत्य पथिक वेबपोर्टल/प्रयागराज/Shri Krishna Janmabhoomi Case: वाराणसी के ज्ञानवापी की तरह अब मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि केस में भी इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा वीडियोग्राफी सर्वे कराने का आदेश दिया गया है। इलाहाबाद हाई कोर्ट के जस्टिस पीयूष अग्रवाल की सिंगल बेंच ने चार महीने में वीडियोग्राफी कराकर सर्वे रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है। एक वरिष्ठ अधिवक्ता की कमिश्नर और दो अधिवक्ताओं की सहायक कमिश्नर के रूप में नियुक्ति भी की जाएगी। इस सर्वे कमीशन में वादी और प्रतिवादी के साथ सक्षम अधिकारी भी शामिल होंगे।

याचिकाकर्ता मनीष यादव ने मीडिया को बताया कि ‘विवादित ढांचे के सर्वे की अर्जी पर मथुरा की जिला अदालत में सुनवाई एक साल से लंबित थी। आज इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मथुरा जिला जज से साफ कह दिया कि चार महीने के अंदर अर्जी पर फैसला सुनाइए और वीडियोग्राफी सर्वे कराकर हाई कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल कीजिए। वीडियोग्राफी के लिए एक अधिवक्ता कमिश्नर और दो सहायक कमिश्नरों की भी तैनाती करने को भी जिला न्यायालय को आदेशित किया है। वीडियोग्राफी के दौरान इनके साथ वादी-प्रतिवादी के अलावा जिले के सभी सक्षम अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

सुनवाई जल्द पूरी कराने की मांग को लेकर मनीष यादव ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में पिछले दिनों अर्जी दाखिल की थी। अर्जी पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने निचली अदालत से आख्या मांगी थी। हाईकोर्ट ने आज इस मामले को निस्तारित करते हुए मथुरा की जिला अदालत को मनीष यादव की अर्जी पर 4 महीने में सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुनाने को कहा है। हाईकोर्ट में याचिकाकर्ता मनीष यादव की तरफ से उनके वकील रामानंद गुप्ता ने बहस की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!