बोले वरिष्ठ पार्टी नेता शुभेंदु अधिकारी, कहा-लेकिन पहले नंबर राजस्थान, झारखंड का

तृणमूल की भी तीखी प्रतिक्रिया-हर विपक्ष शासित सरकार के पीछे पड़ी है भाजपा

सत्य पथिक वेबपोर्टल/कोलकाता/politics: भाजपा के वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की कार्यशैली से सत्ता पक्ष के ज्यादातर विधायक असंतुष्ट हैं। महाराष्ट्र में विधायकों की नाराज़गी के बाद उद्धव सरकार की विदाई जिस तरह लगभग पक्की है, कुछ वैसा ही हाल पश्चिम बंगाल में भी ममता बनर्जी सरकार का भी देर-सवेर होना तय है।

शिवसेना के विधायकों की एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में हुई बगावत को सही ठहराते हुए शुभेंदु ने कहा कि जिस सरकार में पार्टी के चुने हुए विधायकों की बात नहीं सुनी जाती हो, मुख्यमंत्री उन्हें मिलने तक का समय नहीं देते हों तो विधायक बगावत नहीं करेंगे तो क्या करेंगे?

शुभेंदु अधिकारी

‘इडियन एक्सप्रेस’ के हवाले से भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस सरकार भी अपना कार्यकाल पूरा करने से पहले ही गिर जाएगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र के बाद सीधे बंगाल का नंबर नहीं आयेगा। उससे पहले गैर-भाजपा शासित झारखंड और राजस्थान सरकारों की विदाई होगी। पश्चिम बंगाल का नंबर इनके बाद आएगा।
अधिकारी ने पश्चिम बंगाल के कूचबिहार जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “ममता बनर्जी सरकार तो 2024 तक आते-आते बाहर हो जाएगी।”

वहीं भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी के इस बयान पर तृणमूल कांग्रेस की भी तीखी प्रतिक्रिया आई है। तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि विधानसभा चुनावों में मिली करारी हार से बौखलाई भाजपा नापाक तरीकों से दुबारा सत्ता हासिल करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है, इसमें कोई दो राय नहीं है। उन्होंने कहा, “जोरदार चुनाव प्रचार के बावजूद भाजपा को चुनावों में करारी शिकस्त मिली। अब वे किसी भी तरह सत्ता हासिल करना चाहते हैं। उनके बयान भगवा खेमे की हताशा ही दर्शाते हैं।” तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुखेंदु शेखर राय ने भी कहा कि अधिकारी के बयान से स्पष्ट समझ में आ रहा है कि भाजपा ने जानबूझकर महाराष्ट्र में संकट पैदा किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा देश में हर विपक्ष शासित राज्य के पीछे पड़ी है। इस देश की जनता उन्हें मुंहतोड़ जवाब देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!