नई दिल्ली/स्वच्छ ऊर्जा/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: ग्राम उजाला योजना के पहले चरण की शुक्रवार को देश के पांच जिलों में बतौर पायलट प्रोजेक्ट शुरुआत हो गई। इसके तहत 10 रुपये में तीन वर्षों की वारंटी वाले नए एलईडी बल्ब दिए जाएंगे। बदले में उपभोक्ता को फिलामेंट वाले पुराने बल्ब जमा करने होंगे।


पायलट प्रोजेक्ट देश के पांच जिलों में लॉंच


पायलट प्रोजेक्ट के रूप में योजना की लांचिंग देश के विभिन्न ग्रामीण इलाकों के पांच जिलों में की गई है। इनमें आरा (बिहार), वाराणसी (उत्तर प्रदेश), विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश), नागपुर (महाराष्ट्र) व पश्चिमी गुजरात के गांव शामिल हैं।

10-10 रुपये में मिलेंगे बल्ब

योजना की शुरुआत सरकारी कंपनी ईईएसएल की शाखा कन्वर्जेस एनर्जी सर्विसेज लिमिटेड (सीईएसएल) ने की है। योजना के अंतर्गत ग्रामीण उपभोक्ताओं को सात व 12 वाट के पांच बल्ब तक दिए जाएंगे। योजना की शुरुआत करते हुए सीईएसएल ने कहा कि उपभोक्ताओं को उच्च क्षमता वाले बल्ब 10 रुपये की बेहद किफायती दर पर उपलब्ध कराए जाएंगे। इससे बिजली की खपत व खर्च में कमी देखने को मिलेगी।

घटाएंगे कार्बन उत्सर्जन, स्वच्छ बनेगा पर्यावरण

पर्यावरण हितैषी एलईडी बल्ब का इस्तेमाल बढ़ने से कार्बन उत्सर्जन घटेगा और पर्यावरण स्वच्छ बनेगा। ईईएसएल के एक्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन सौरभ कुमार ने कहा कि उजाला योजना की पहुंच हर गांव तक नहीं हो सकी, क्योंकि ग्रामीण हर एलईडी बल्ब के लिए 70 रुपये नहीं देना चाह रहे थे। ग्राम उजाला योजना के तहत वे 10 रुपये में एलईडी बल्ब ले सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!