भुवनेश्वर-ओडिसा/National/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा है कि पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें जल्द नियंत्रण में आ जाएंगी। उन्होंने साफ किया कि पिछले कुछ समय में दुनिया भर में तेल उत्पादन में कमी आई है। इसी वजह से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की दरों में बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाने के लिए केंद्र सरकार लगातार प्रयास कर रही है।

फिर 35-35 पैसे बढ़े पेट्रोल-डीजल के रेट


इस बीच, दो दिनों तक स्थिर रखने के बाद ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने मंगलवार को फिर पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़ा दिए। नवीनतम 35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी के बाद नई दिल्ली में पेट्रोल 90.93 रुपये और डीजल 81.32 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है।

एमपी-राजस्थान में दाम 100 रुपये के पार

बीते शनिवार तक लगातार 12 दिनों की बढ़ोतरी के बाद राजस्थान और.मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में नॉर्मल पेट्रोल का भाव भी 100 रुपये प्रति लीटर को पार कर गया था। उसके बाद रविवार और सोमवार को कंपनियों ने दाम नहीं बढ़ाए।

अमेरिका से जारी रहेगी तेल-गैस आपूर्ति

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा है कि भारत को पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति जारी रहेगी। इसके साथ ही राष्ट्रपति जो बाइडन की सरकार भारत को नवीन ऊर्जा के विकास में भी मदद करती रहेगी।

ऊर्जा क्षेत्र में भारत-अमेरिका के रिश्ते बेहद मजबूत

प्राइस ने कहा कि ऊर्जा क्षेत्र में भारत और अमेरिका के रिश्ते बेहद मजबूत हैं। हालांकि बाइडन जीवाश्म ईधन के खिलाफ हैं और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे हमारी प्राथमिकताओं में हैं। इसके बावजूद रणनीतिक ऊर्जा क्षेत्र में भारत के साथ हमारे रिश्ते और मजबूत होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!