#सीसीटीवी फुटेज से खुला राज़, पुलिस ने 24 घंटे के भीतर किया खुलासा, पकड़ा गया हत्यारोपी

#बताया-भागते बदमाशों पर तमंचे से दागा था फायर, निशाना चूकने से सुनील को जा लगी गोली

#गैर इरादतन हत्या की धारा 304 के बजाय हत्या की धारा 302 में मुकदमा दर्ज कर भेजा जेल

सत्य पथिक वेबपोर्टल/मीरगंज/ friend was pump manager’s shooter, caught: मीरगंज में पेट्रोल पंप मैनेजर की गोली मारकर हत्या करने वाला कोई और नहीं, इसी पेट्रोल पंप पर काम करने वाला उसका ही सहकर्मी था। पुलिस ने हत्यारोपी गेंदनलाल को गिरफ्तार भी कर लिया है। कड़ी पूछताछ में उसने जुर्म कबूल भी कर लिया है।

ज्ञात रहे कि गुरुवार तड़के मीरगंज-मिलक रोड पर कुल्छा खुर्द गांव के पास स्थित अमर फिलिंग सेंटर पेट्रोल पंप के सेल्समैन- कम-मैनेजर सुनील को कथित तौर पर कार सवार बदमाशों ने टोकने पर गोली दी थी और कार लेकर फरार हो गए थे। उस वक्त कहा जा रहा था कि गोली हाईवे पर सक्रिय ढाबों पर खड़े ट्रकों से डीजल चुराने वाले गिरोह के बदमाशों ने सुनील के टोकने से खफा होकर मारी है। मीरगंज सीएचसी से बरेली ले जाते वक्त रास्ते में ही गंभीर घायल सुनील की मृत्यु हो गई थी।

लेकिन, मीरगंज थाना पुलिस ने स्मार्ट पुलिसिंग का प्रदर्शन करते हुए 24 घंटे के भीतर ही हत्याकांड का खुलासा कर हत्यारोपी गेंदनलाल को गिरफ्तार भी कर लिया है। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने मीरगंज थाना प्रभारी की मौजूदगी में बताया कि सुनील की हत्या करने वाला कोई और नहीं, इसी पेट्रोल पंप पर काम करने वाला सुनील का साथी गेंदनलाल था।

पुलिस ने पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरों की वीडियो फुटेज को खंगाला तो सच सामने आ गया। पुलिस ने आरोपी गेंदनलाल को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया और अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है। पुलिस ने हत्यारोपी गेंदनलाल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

सीसीटीवी फुटेज से मिले सबूतों और हत्यारोपी गेंदनलाल, पेट्रोल पंप के चौकीदार अतुल शर्मा द्वारा पुलिस को दर्ज कराए बयानों से नए तथ्य प्रकाश में आए हैं। पेट्रोल पंप के चौकीदार अतुल शर्मा ने 28 जुलाई गुरुवार तड़के सवा चार बजे पंप के मैनेजर सुनील कुमार को बताया कि डीजल चोरों की सफेद रंग की कार XUV 500 रोड किनारे खड़े ट्रक के पास आकर रुकी है। इस पर पेट्रोल पंप मैनेजर सुनील पंप के ऑफिस के दरवाजे से बाहर निकला और 12 बोर का तमंचा, कारतूस गेंदनलाल को देकर उसके और चौकीदार-मुकदमे के वादी अतुल शर्मा के साथ हाईवे पर बदमाशों की कार की तरफ आया।

लेकिन गैर इरादतन हत्या के बजाय दर्ज किया हत्या का केस

सुनील आगे और गेंदनलाल उसके पीछे था। सुनील के टोकने पर बदमाश कार में बैठकर भागने लगे। गेंदनलाल ने बताया कि उसने भागते बदमाशों पर 12 बोर तमंचे से फायर किया लेकिन तमंचे से निकली गोली जल्दबाजी और बदहवासी में निशाना चूकने की वजह से भाग रहे बदमाशों को लगने के बजाय आगे चल रहे पंप मैनेजर सुनील की कमर में जा लगी। गंभीर घायल सुनील लड़खड़ाते हुए अपने ऑफिस की तरफ भागे लेकिन रास्ते में ही जमीन पर गिर पड़े। सीएचसी मीरगंज से जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उनकी मृत्यु हो गई थी।

पुलिस ने पेट्रोल पंप के आफिस की मेज की ड्राअर में रखा 12 बोर तमंचा और कारतूत भी बरामद किए हैं। पुलिस ने हत्यारोपी गेंदनलाल के विरुद्ध गैरइरादतन हत्या की आईपीसी धारा 304 में एफआईआर लिखने के बजाय आईपीसी की धारा 302 और शस्त्र अधीनियम की धारा 25 के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार किया है और जेल भेजा है। पुलिस डीजल चोर बदमाशों और उनकी फेद रंग की एक्सयूवी कार की तलाश में भी सरगर्मी से जुटी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!