सत्य पथिक वेबपोर्टल/सुल्तानपुर/Poorvanchal Expressway sunk: दो दिन से हो रही बारिश के बीच सुल्तानपुर जिले में हलियापुर के पास गुरुवार देर रात नवनिर्मित पूर्वांचल एक्सप्रेसवे अचानक धंस गया। हाईवे के बीचोंबीच लगभग 15 फ़ीट लंबे, पांच फुट चौड़े गड्ढे में गिरकर कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। इनमें सवार कई लोग घायल भी हुए हैं। मगर खुशकिस्मती ही रही कि इस बीच बड़ा हादसा नहीं हुआ। सूचना पर यूपीडा टीम और पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे और राहत एवं बचाव कार्य शुरू कराया। शुक्रवार सुबह तक यूपीडा ने गड्ढे को भरकर पैचवर्क करवाकर एक्सप्रेसवे दुबारा चालू भी करवा दिया है।

उत्तर-प्रदेश के सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण के दावों की पोल इस बरसात में खुल गई। लखनऊ से गाजीपुर को जोड़ने वाला पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे दो दिन से हो रही भीषण बरसात में गुरुवार रात लगभग साढ़े नौ बजे धंस गया। सड़क बैठने से करीब पांच फुट की चौड़ाई में 15 फीट लंबा गड्ढा हो गया। रात में इस गड्ढे में गिरकर कई कारें क्षतिग्रस्त हो गईं और उनमें सवार कई लोग घायल भी हो गए। हालांकि सौभाग्य से कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। टूटे एक्सप्रेसवे पर रात भर वाहनों की लंबी कतारें लगी रहीं। एक्सप्रेसवे धंसने की सूचना लगते ही यूपीडा में हड़कंप मच गया।

बृहस्पतिवार रात में ही यूपीडा ने क्रेन और जेसीबी भेजकर मरम्मत कार्य शुरू करवाया। साथ ही बड़े वाहनों का आवागमन रोककर छोटे वाहनों को कॉशन पर बगल से निकलवाया। शुक्रवार सुबह तक सड़क का गड्ढा भर दिया गया। मौके पर हलियापुर पुलिस व यूपीडा के अधिकारी डटे रहे।

नवनिर्मित एक्सप्रेसवे बारिश में धंस जाने पर यूपी कांग्रेस ने ट्वीट कर मोदी-योगी सरकार को घेर लिया है। कांग्रेस ने लिखा है कि कर दिया. बताया जा रहा है कि इस गड्ढे के कारण कई कार भी क्षतिग्रस्त हुई, लेकिन किसी बड़े हादसे से लोग बच गए. इस मामले में कांग्रेस ने ट्वीट करके लिखा है, “हाल-फिलहाल में ही बना पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे दो बरसातें भी नहीं झेल पाया और टूटकर धंस गया। सरकार के भ्रष्टाचार का इससे बड़ा साक्ष्य क्या होगा?”

बताते चलें कि 22 हजार करोड़ रुपये की लागत से बने 340 KM लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण 16 नवंबर 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुल्तानपुर में कूरेभार के अरवल कीरी स्थित एयर स्ट्रिप से किया था। इस प्रोजेक्ट से लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर जिलों को जोड़ा गया था।पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर आपात्कालीन स्थिति में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान लैंडिंग/टेकऑफ भी कर सकते हैं। इसके लिए सुल्तानपुर में 3.2 किलोमीटर लंबी हवाई पट्टी का निर्माण भी हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!