सत्य पथिक वेबपोर्टल/कोलंबो-नई दिल्ली/President Gotabaya flew to Maldives: श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे इस्तीफे पर दस्तखत कर परिवार समेत देश छोड़कर मालदीव चले गए हैं। इस्तीफे पर दस्तखत की शर्त पर उन्हें सुरक्षित पैसेज दे दिया गया। हालांकि उनके भाई को देश छोड़ने की इजाजत नहीं मिली है।

गोटबाया राजपक्षे ने राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देने के पहले परिवार समेत सुरक्षित पैसेज मांगा था। तीन दिन पहले ही 13 जुलाई को पद से इस्तीफा दे देने का ऐलान भी कर दिया था। इस्तीफे पर दस्तखत भी एक दिन पहले ही कर दिए थे। अब स्पीकर अभयवर्धने आज बुधवार को राष्ट्रपति गोटबाया के इस्तीफे का सार्वजनिक तौर पर ऐलान करेंगे।

पूर्व वित्त मंत्री भाई बासिल राजपक्षे को एयरपोर्ट पर रोका
बीती रात राजपक्षे के भाई और पूर्व वित्त मंत्री बासिल राजपक्षे को कोलंबो अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर इमीग्रेशन स्टाफ और एयरपोर्ट कर्मियों ने देश छोड़ने से रोक लिया। लिहाजा उन्हें एयरपोर्ट से ही लौटना पड़ा।

श्रीलंका को मदद लेकिन राजपक्षे को शरण पर विचार नहीं
वहीं, श्रीलंका के मौजूदा हालात पर भारत के विदेश डाॅ. एस जयशंकर की भी सधी हुई प्रतिक्रिया आई है। डाॅ. जयशंकर ने कहा कि श्रीलंका की स्थिति बेहद संवेदनशील और जटिल है। नई दिल्ली की प्रतिबद्धता और समर्थन इस द्वीपीय देश के मैत्रीपूर्ण लोगों के लिए है। बेहद कठिन दौर में भी हम उनकी भरपूर मदद कर रहे चाहते हैं। विदेश मंत्री ने कहा कि भारत ने पिछले कुछ महीनों में श्रीलंका के लोगों की यथासंभव भरपूर सहायता की है। हालांकि राजपक्षे परिवार के सदस्यों को भारत में शरण देने की संभावना के सवाल पर मंत्री ने कहा कि अभी भारत का ध्यान श्रीलंका की आर्थिक स्थिति पर है। अन्य मामलों से हमारा संबंध नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!