Category: featured

राहुल यदुवंशी: आदर्श शिक्षक की मशाल थामकर वर्षों से जगा रहे शिक्षा की ज्योति

-'पंखों से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है'-इस तथ्य को साबित करके दिखा रहे हैं बचपन से ही एक पैर पोलियो की वजह से निष्क्रिय हो चुकने के…

बरेली में चार दशक तक सियासी-सोशल चर्चाओं का केंद्र रहे ये अड्डे!

बरेली में अड्डेबाजी के लिए तब के प्रमुख चावला रेस्टोरेण्ट, चोधरी रेस्टोरेंट, कचहरी पर फौजी और बसंत की चाय की दुकान, बार एसोसिएशन वाली बगिया, सैलानी चोराहा, नावल्टी चोराहे पर…

“गुलों को प्यार जो करते वो काँटो से नहीं डरते
क्यों न राहों में काँटो की जहाँ दीवार बन जाए”

Bareilly /Fatheganj West/काव्य/ग़ज़ल/रचनाकार/ सत्यपथिक न्यूज़ नेटवर्क आशिक़ी के समंदर में पीर पतवार बन जाएकहा किसने कि कोई नाख़ुदा दिलदार बन जाए। मरीजे इश्क़ को बस आशियाँ तिनकों का काफ़ी हैंमहल…

“लबों पे लिए प्यार का इक तराना,वो आशिकी के हैं मंज़र छिपाए”

Bareilly /Fatehganj West/काव्य,ग़ज़ल, रचनाकार/ सत्यपथिक न्यूज़ नेटवर्क ज़िगर में ग़मों के समंदर छिपाए? नज़र में कितने ही खंज़र छिपाए। लबों पे लिए प्यार का इक तराना वो आशिकी के हैं…

मानवता बचानी है तो बचाने ही होंगे जल, जंगल, जमीन और पहाड़

5 जून पर्यावरण दिवस पर जनचेतना को झकझोरकर जगाता युवा पत्रकार आशीष जौहरी का  विशेष आलेख बरेली/पर्यावरण संरक्षण/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: जल, जंगल और जमीन, इन तीन तत्वों के बिना…

‘दिल का खेल था और वो दिल से ही खेल गए’

Pilibhit/Bareilly: Featured:सत्यपथिक न्यूज़ नेटवर्क तुम मुझे नहीं पढ़ते खुद को ढूंढते हो,मेरी हर बात में भी सिर्फ अपनी बात खोजते हो।बस इतने करीब रहो कि बात न भी होतो दूरी…

“जिंदगी अपनी हैं,
इस उम्दा सोच को मेरे जेहन में बसाता है”

“रब जोड़कर अपनी मर्जी बताता है “ जो नम आंखों के साथ भी मुस्कुराना सिखाता है,गम को भुला कर महफिल में जीने की अदा सिखाता है।लोगों का काम है तमाशा…

“वक़्त कितना अजीब होता है कभी कटता नहीं कभी पता नहीं चलता”

वक्त भी कितना अजीब होता है,कभी पता ही नहीं चलता तो ,कभी काटे ही नहीं कटता,एक उम्मीद कुछ अच्छा होने का ,एक डर कुछ न कुछ खोने का,कभी यूं ही…

error: Content is protected !!