सत्य पथिक वेबपोर्टल/मुम्बई/Sanjay Raut arrested: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आखिरकार रविवार आधी रात पात्रा चॉल घोटाले में शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के विरोध में ईडी दफ्तर के बाहर कुछ शिवसैनिकों ने नारेबाजी भी की।

रात साढ़े 12 बजे संजय के भाई सुनील राउत ईडी दफ्तर पहुंचे। बाद में सुनील अपने साथ एक बैग लेकर वापस अंदर गए। ईडी ने संजय को रविवार शाम को कथित तौर पर हिरासत में लिया था।

बाद में संजय के भाई सुनील राउत ने मीडिया को बताया कि ईडी संजय राउत से डरती है, इसलिए उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। फर्जी दस्तावेजों के सहारे संजय राउत को पात्रा चॉल घोटाले से जोड़ने की कोशिश हो रही है। यह गिरफ्तारी सिर्फ उनकी आवाज को दबाने के लिए की गई है। घर से जो भी रकम मिली है, वह शिवसैनिकों के अयोध्या दौरे के वक्त की है। उस पैसे पर एकनाथ शिंदे अयोध्या यात्रा भी लिखा है।
संजय राउत को सोमवार दोपहर लंच के बाद पीएमएलए कोर्ट में पेश किया जाएगा। संजय राउत के घर से ईडी ने बेहिसाबी 11.50 लाख रुपये भी जब्त किये हैं। ईडी के सीनियर ऑफिसर भी देर रात दिल्ली से मुंबई पहुंच गए हैं। संजय राउत से पूछताछ की जा रही है।

पात्रा चॉल घोटाले से जुड़े खास तथ्य
वर्ष 2010 में प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी ने संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत के खाते में 83 लाख रुपये ट्रांसफर किए थे। इस रकम से वर्षा राउत ने दादर में एक फ्लैट खरीदा। ED की जांच शुरू होने के बाद भी वर्षा राउत ने माधुरी राउत के खाते में 55 लाख रुपये भेजे थे। ED के मुताबिक, प्रवीण राउत ने राकेश वधावन और सारंग वधावन के साथ मिलकर हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की हेराफेरी की है। ED प्रवीण राउत और उसके करीबी सुजीत पाटकर से जुड़े ठिकानों पर भी छापेमारी कर चुकी है। प्रवीण राउत और संजय राउत कथित तौर पर दोस्त हैं। सुजीत पाटकर को भी संजय राउत का करीबी माना जाता है। सुजीत पाटकर संजय राउत की बेटी के साथ एक वाइन ट्रेडिंग कंपनी में पार्टनर भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!