लखनऊ/बरेली/Politics/Satyapathik: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में साल भर से भी कम वक्त बचा है लेकिन कांग्रेस को बरेली में एक नहीं, तीन बड़़े झटके लगे हैं।  प्रदेश महासचिव ब्रह्मस्वरूप सागर ने तेजी से बढ़ रही गुटबाजी-अनुशासनहीनता से क्षुब्ध होकर पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया है। श्री सागर ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पत्र भेजकर अपने इस फैसले की जानकारी दी है।

इससे पहले ब्रह्मस्वरुप समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में भी रहे हैं। वहीं देर शाम कांग्रेस प्रदेश सचिव अली अब्बास और बरेली शहर विधानसभा से बसपा प्रत्याशी रहे इंजीनियर अनीस अहमद खां ने भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।


कांग्रेस को प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बनाने पर तुले थे
ब्रह्मस्वरूप और दो अन्य के पार्टी छोड़ने पर बरेेेली महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है। ऐसे कुछ मौकापरस्त लोगों के जाने से पार्टी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। बरेली कांग्रेस के कार्यकर्ता आज खुद को आजाद महसूस कर रहे हैं, ऐसे लोग पार्टी को प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बनाने का काम कर रहे थे। पूरी बरेली की कांग्रेस एकजुट है, पार्टी का एक एक कार्यकर्ता जोश से लबरेज है। तीन-तीन दलों में रहने के बाद ऐसे मौकापरस्त लोग केवल स्वहित ही देखते हैं। इनका पार्टी या जनता से कोई सरोकार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!