सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/online Mushayara: ग़ज़ल मंच का ऑनलाइन 64वाँ तरही मुशायरा बरेली के मशहूर वरिष्ठ शायर ग़ज़लकार विनय सागर जायसवाल की सदारत में संपन्न हुआ।

मुशायरे की ख़ूबसूरत निजामत संदेश जैन संदेश और कामिनी रावल ने की।मेहमान ए ख़ास रहीं सुनीता लुल्ला और प्रो. ममता सिंह। निगरा के रूप में हीरालाल यादव,अलका मित्तल,सवीना वर्मा सवी सक्रिय रहे।

तरही मुशायरे में अनेक प्रान्तों से शोरा हजरात ने भागीदारी की।

इनमें प्रमुख रूप से रोहित अस्थाना, अमिता गुप्ता, पं राजेश शर्मा, मनीषा नारायण, सुमित्रा शिशिर, सुनीता गर्ग, रामशिरोमणि, रूपेन्द्र गौर, डॉ. शिव शंकर यजुर्वेदी, संजय शुक्ला, डीपी लहरें ,नफ़ीस परवेज़, पुष्पेन्द्र अस्थाना वतन, प्राची पाठक, अजय जायसवाल, ममता जबलपुरी,
कामिनी रावल,राम नरेश गुप्ता, रश्मि लता, सरफराज हुसैन, श्लेष चंद्राकर, मधु शंखधर, अनुराग मिश्र, अलका शर्मा, ज्ञानुदास मानिकपुरी, रजनी गुप्ता पूनम, ओम शंकर ओम, रीमा पांडे, डॉ. सुनीता सिंह, राजेन्द्र राज संतवानी और
विनय सागर जायसवाल ने ख़ूबसूरत ग़ज़लों से सभी की वाहवाही बटोरी।

सदरे मोहतरम विनय सागर जायसवाल के सदारती खुत्बे से कार्यक्रम का समापन हुआ। कालीचरण निगोते, डॉ. राजेश शर्मा, डॉ. अखिलेश गुप्ता वग़ैरह बराबर मुशायरे का लुत्फ़ लेते हुए हौसला अफ़ज़ाई करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!