सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Online Mushayara: गज़ल मंच का 65वाँ ऑनलाइन आल इंडिया तरही मुशायरा बरेली के शायर ग़ज़लकार विनय साग़र जायसवाल की सदारत में सम्पन्न हुआ। ख़ूबसूरत निजामत कामिनी रावल (उदयपुर) और अलका मित्तल (मेरठ) ने की। मेहमान ए ख़ास रहीं सुनीता लुल्ला जी (हैदराबाद)।

प्रो. ममता सिंह (मुरादाबाद), हीरालाल यादव (मुम्बई), संदेश जैन (बाँसबाड़ा), सवीना वर्मा सवी (अम्बाला) निगराँ के रूप में सक्रिय रहे। कालीचरण, डॉ. अखिलेश गुप्ता, संतवानी जी, सीमा प्रधान, रजनी गुप्ता ने अंत तक रहकर सबकी हौसला अफजाई की।

अलका शर्मा (भिवानी) ममता जबलपुरी, नीलम शर्मा (विकास नगर), नफ़ीस परवेज़ (भोपाल), विमलेश कुमार हमदम(बाराबंकी), राम शिरोमणि उपाध्याय कोलकाता), मिर्ज़ा जावेद बेग (उज्जैन), संजय शुक्ला (कोटा) दिव्या भसीन कोचर, संतोष रजा (गाज़ीपुर), द्वारिका प्रसाद लहरें मौज (कवर्धा), ज्ञानुदास मानिकपुरी , रीमा पांडेय (कोलकाता), मनीषा नारायण भसीन (अम्बाला), शैलेंद्र मिश्रा देव (बदायूँ), अजय जायसवाल (अमेठी), अलका मित्तल (मेरठ), डॉ देशबंधु तन्हा (पीलीभीत), सुमित्रा कामडिया (भिलाई), डॉ शिवशंकर यजुर्वेदी (बरेली), डॉ. भागिया ख़ामोश (अहमदाबाद),
श्लेष चंद्राकर (छत्तीसगढ़) हीरालाल यादव (मुम्बई), ओम
शंकर मिश्रा ओम (पंतनगर), पुष्पेन्द्र अस्थाना (बनारस),
कामिनी व्यास रावल (उदयपुर), सवीना वर्मा सवी (अम्बाला), सरफ़राज़ हुसैन फ़राज़ (पीपलसाना), फन्सूर जाफ़री (भोजीपुरा), डॉ. ममता सिंह (मुरादाबाद), सुनीता लुल्ला (हैदराबाद), विनय साग़र जायसवाल (बरेली) आदि ने अपनी ख़ूबसूरत ग़ज़लों से सभी की वाहवाही बटोरी। सदरे मोहतरम विनय सागर जायसवाल के सदारती खुत्बे से मुशायरे का समापन हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!