सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/politics: लोकसभा में गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बीच नोकझोंक हुई। सत्ता पक्ष और कांग्रेस इस नोकझोंक को लेकर एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करते रहे और हमलावर दिखे।

विवाद कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को ‘राष्ट्रपत्नी’ बोलने पर शुरू हुआ। बयान पर सत्ता पक्ष के सांसदों ने हंगामा काटा। हंगामे के बाद लोकसभा की कार्रवाई स्थगित हो गई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कार्यवाही स्थगित होने के बाद सोनिया गांधी सदन से बाहर निकल रही थीं। उसी वक्त भाजपा सांसद सोनिया इस्तीफा दो के नारे लगाने लगे। इस पर सोनिया वापस लौटीं। उन्होंने भाजपा सांसद रमा देवी से कुछ बात करने कीक कोशिश की। तभी स्मृति ईरानी नजदीक आईं और कहा, ”मैडम, क्या मैं आपकी मदद कर सकती हूं? मैंने ही आपका नाम लिया था।” इस पर सोनिया ने स्मृति को डपटते हुए कहा, ”डोन्ट टॉक टू मी।” इसके बाद कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस के कुछ सांसद और राकांपा सांसद सुप्रिया सुले सोनिया गांधी को वहां से दूर ले गईं।

नोकझोंक पर अलग-अलग दावे

कांग्रेस सांसद गीता कोड़ा ने बताया, ”सदन की कार्यवाही 4 बजे स्थगित हुई तो हम सभी जा रहे थे। तभी बीजेपी के सांसद सोनिया गांधी का नाम लेकर चिल्लाने लगे। सोनिया गांधी कार्यवाहक अध्यक्ष रमादेवी के पास जाकर पूछना चाह रही थीं कि जब अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांग ली है तो फिर ये सब क्यों? क्या बात है? तभी बीजेपी के सांसद चिल्लाने लगे- इस्तीफा दो। बीजेपी सांसद सोनिया गांधी की तरफ उंगली भी दिखा रहे थे। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी तेज तेज चिल्लाने लगीं। स्मृति ईरानी ने सोनिया की तरफ इशारा करते हुए कहा कि यह बहुत चिल्लाती है। बीजेपी के सांसद कहीं मैडम सोनिया पर हमला न कर दें, इसलिए हम उन्हें वहां से निकालकर लाए। सोनिया गांधी के साथ जो कुछ हुआ है वो अशोभनीय है।”

कांग्रेस सांसद ज्योत्सना महंत ने कहा, हम लोग वापस लौट रहे थे, तभी बीजेपी सांसदों ने हंगामा कर दिया। सोनिया गांधी रमा देवी से बात कर रही थीं, तभी स्मृति ईरानी वहां आ गईं और चिल्लाने लगीं। कांग्रेस प्रवक्ता-सांसद जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा, “आज लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार किया! लेकिन क्या स्पीकर इसकी निंदा करेंगे? क्या नियम सिर्फ विपक्ष के लिए होते हैं?”

कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा, आज हमने लोकसभा के अंदर अपनी नेता सोनिया गांधी के प्रति बेहद शर्मनाक व्यवहार देखा। उनके खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए गए।
बीजेपी का दावा?
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, सोनिया गांधी जब हमारी एक सांसद के पास आकर बात कर रही थीं। तब हमारी एक महिला सांसद उनके पास गईं और पूछने लगीं कि क्या हो गया? क्या बात हो रही है? तब सोनिया गांधी ने धमकी भरे लहजे में कहा कि तुम मुझसे बात मत करो।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, अधीर रंजन ने राष्ट्रपत्नी जानबूझकर बोला और दो बार दोहराया। क्या यह छोटी घटना है? जिस तरह से कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति का अपमान किया, यह उनकी मानसिकता को दर्शाता है। देश आदिवासी राष्ट्रपति के इस अपमान को कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। हम कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष से संसद में और देश के सामने माफी मांगने की मांग करते हैं।
अधीर रंजन की सफाई
वहीं, इस विवाद पर अधीर रंजन चौधरी ने बीजेपी पर निशाना साधा है। कहा, मैंने राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा था. लेकिन बीजेपी सोनिया गांधी पर निशाना क्यों साध रही है? मुझसे गलती हुई है। बंगाली हूं। हिंदी अच्छी नहीं है। संसद में बोलकर स्पष्टीकरण देने दीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!