82 वर्ष की उम्र में गुरुग्राम के मेदांता हास्पिटल में ली अंतिम सांस, पिछले कई दिनों से अस्पताल में लगा था पक्ष-विपक्ष के नेताओं का तांता

सत्य पथिक वेबपोर्टल/गुरुग्राम/Mulayam Singh Yadav expires: समाजवादी पार्टी के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव का सोमवार सुबह 8.16 बजे गुरुग्राम के मेदांता हास्पिटल में निधन हो गया। 82 साल के मुलायम सिंह यादव को यूरिन संक्रमण, ब्लड प्रेशर और सांस लेने में तकलीफ के चलते पिछले दिनों गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

‘धरतीपुत्र’ के नाम से चर्चित जनप्रिय नेता मुलायम सिंह यादव का हालचाल जानने के लिए मेदांता अस्पताल में नेताओं के आने का सिलसिला पिछले कई दिनों से लगातार जारी था। रविवार को नेताजी का हाल जानने के लिए रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया मेदांता अस्पताल पहुंचे। इससे पहले आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अस्पताल पहुंचकर अखिलेश यादव से की मुलाकात की थी। 

पीएम मोदी, सीएम योगी ने भी लिया हालचाल  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव से बातचीत कर मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य की जानकारी ली थी। पीएम मोदी ने अखिलेश यादव को बेहतरीन इलाज के लिए हर संभव मदद का भरोसा भी दिलाया था।

गांव से प्रदेश और देश की राजनीति के बने सिरमौर
मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवंबर 1939 को इटावा जिले के सैफई गांव में हुआ था। उनके पिता सुघर सिंह यादव एक किसान थे। मुलायम सिंह फिलहाल मैनपुरी से लोकसभा सांसद थे। उत्तर प्रदेश ही नहीं, राष्ट्रीय राजनीति में भी मुलायम सिंह को प्रमुख नेताओं में गिना जाता हैं। वे तीन बार UP के सीएम और वो केंद्रीय रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं। 8 बार विधायक और 7 बार लोकसभा सांसद भी चुने जा चुके हैं। वर्ष 1992 में उन्होंने समाजवादी पार्टी का गठन किया था।

मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की थीं। पहली पत्नी अखिलेश यादव की मां मालती देवी की मृत्यु मई 2003 में हुई थी। दूसरी शादी साधना गुप्ता से की थी। मुलायम सिंह और साधना के बेटे का नाम प्रतीक यादव है। कुछ माह पहले ही में साधना का निधन हुआ है।
 

5 दशक लंबा रहा सियासी करियर

  • 1967, 1974, 1977, 1985, 1989, 1991, 1993 और 1996- 8 बार विधायक रहे. 
  • 1977 उत्तर प्रदेश सरकार में सहकारी और पशुपालन मंत्री रहे. लोकदल उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष भी रहे. 
  • 1980 में जनता दल प्रदेश अध्यक्ष रहे. 
  • 1982-85- विधानपरिषद के सदस्य रहे. 
  • 1985-87- उत्तर प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे. 
  • 1989-91 में उत्तर प्रदेश के सीएम रहे. 
  • 1992 में समाजवादी पार्टी का गठन किया.
  • 1993-95- उत्तर प्रदेश के सीएम रहे. 
  • 1996- सांसद बने
  • 1996-98-  रक्षा मंत्री रहे. 
  • 1998-99 में दोबारा सांसद चुने गए. 
  • 1999 में तीसरी बार सांसद बन कर लोकसभा पहुंचे और सदन में सपा के नेता बने. 
  • अगस्त 2003 से मई 2007 में उत्तर प्रदेश के सीएम बने. 
  • 2004 में चौथी बार लोकसभा सांसद बने 
  • 2007-2009 तक यूपी में विपक्ष के नेता रहे.
  • मई 2009 में 5वीं बार सांसद बने. 
  • 2014 में 6वीं बार सांसद बने
  • 2019 में 7वीं बार सांसद चुने गए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!