सत्य पथिक वेबपोर्टल/मुम्बई/Maharashtra Issue: महाराष्ट्र में नई सरकार बनने के बाद भी उद्धव और शिंदे गुटों के बीच तीखी बयानबाजियों का दौर थमने में नहीं आ रहा है। शिंदे गुट के विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि अभी तक किसी ने तीर-धनुष का चिन्ह छीनने की कोशिश नहीं की है। उद्धव ठाकरे को तो पहले अपने कार्यकर्ताओं की सुननी चाहिए। समझना चाहिए कि जिस विचारधारा के साथ चुनाव में जनता के बीच गए थे, आज उसके साथ हैं भी, या नहीं। उद्धव पहले तो कह रहे थे कि कई विधायक लौटकर आएंगे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं है।

बता दें कि शिंदे सरकार बनने के बाद पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) शुक्रवार को अपनी पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बेहद हमलावर दिखे। कहा, “शिवसेना का चिह्न ‘तीर और कमान’ हमसे कोई नहीं छीन सकता। सुप्रीम कोर्ट  का 11 जुलाई का फैसला सिर्फ शिवसेना का ही नहीं बल्कि भारतीय लोकतंत्र का भविष्य भी तय करेगा।” उन्‍होंने राज्‍य में मध्‍यावधि चुनाव की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!