कई अन्य घरेलू सामानों की कीमतों में गिरावट के आसार, पाम ऑयल की base price में कटौती का असर

सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली relief: केंद्र सरकार के एक हालिया कदम से आसमान छूते खाद्य तेलों के दामों में थोड़ी गिरावट आई है जिससे निम्न-मध्य वर्ग को राहत मिली है। हालांकि दाम अभी भी सामान्य से बहुत ज्यादा हैं।

दरअसल मोदी सरकार ने महंगाई की आग में झुलसते आमजन को राहत देने के मक़सद से अभी हाल ही में पाम ऑयल ( Palm Oil ) और सोया ऑयल की बेस इंपोर्ट प्राइस में कटौती की घोषणा की है। बेस इंपोर्ट प्राइस में कटौती का फायदा खाद्य तेल (Edible Oil) कंपनियों को मिला है। लिहाजा भारत में खाद्य तेलों के दाम कुछ घट गए हैं।

अडानी विल्मर, मदर डेयरी ने घटाए दाम
भारत की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनियों में एक अडानी विल्मर ने अपने सबसे महंगे फॉर्च्यून रिफाइंड सनफ्लाअर खाद्य तेल के दाम घटा दिए हैं। एक लीटर पैक की कीमत 220 रुपये से घटकर 210 रुपये हो गई है। कुछ ऐसी ही राहत मदर डेयरी ने भी खाद्य तेलों के एक लीटर पैक के दाम में अपने उपभोक्ताओं को दी है। मदर डेयरी ने एक लीटर खाद्य तेल के पैक में 15 रुपये की कटौती की है।

पाम ऑयल के दाम में नरमी का फायदा ग्राहकों को इससे बनने वाले साबुन, बिस्कुट, नूडल्स, शैंपू, लिपस्टिक डिटरजेंट में भी मिलने की उम्मीद है। इन सामानों के दाम घटेंगे तो घरों का बजट भी सुधरेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!