सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Online Mushayara: फेसबुक के अबूधाबी से संचालित सोशल मीडिया ग्रुप शम्अ-फ़िरोज़ाँ की तरफ से एक लफ़्ज़ी ऑनलाइन मुशायरा आयोजन किया गया। मुशायरे में इन 3 अलफ़ाज़ पर अलग-अलग शेर पेश करने को कहा गया। अल्फ़ाज़ थे –1.तमन्ना, 2.धड़कन और 3.इंतज़ार। बरेली के शायर विनय जायसवाल साग़र के इन अल्फाज़ पर पढ़े गए तीनों शेरों को मुशायरे का सबसे बेहतरीन कलाम करार दिया गया और ऑनलाइन अवार्ड से भी नवाजा गया।

श्री जायसवाल ने फर्स्ट अवार्ड के लिए ग्रुप एडमिन डॉ. शाहीन वसी गुल और उनकी पूरी टीम का शुक्रिया अदा किया है। मुशायरे में बेहतरीन कलाम के अवार्ड से नवाजे गए श्री जायसवाल के ये तीनों शेर ‘सत्य पथिक वेबपोर्टल’ के साहित्य प्रेमी पाठकों के लिए भी पेशेखिदमत हैं-

तमन्ना—1


तमन्ना है ये अरमां है ये ख़्वाहिश है ये हसरत है
तुम्हारे प्यार में दीवानगी की सब हदें तोड़ूँ

धड़कन —2

हमारे इश्क़ की मिल जायेगी गवाही तुमको
ज़रा करीब से धड़कन तो सुन लो इस दिल की

इंतज़ार—3

यक़ीन वादे पे उसके था इस कदर दिल को
तमाम उम्र हमें इंतज़ार करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!