सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/Achievement: बीत रहा वर्ष 2022 अदम्य जीवट वाली कई महिलाओं की उपलब्धियों से भरा रहा। इनकी ये अनूठी उपलब्धियां हमें मुश्किलों और बाधाओं से डरे बिना निरंतर आगे बढ़ने और शिखर छूने के लिए प्रेरित करती हैं। आइए जानते हैं बीते बर्ष किन महिलाओं ने किस क्षेत्र में किया देश का नाम रोशन।

द्रौपदी मुर्मू : देश को मिलीं पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति
आधी आबादी के लिए इस वर्ष की सबसे बड़ी और गौरवशाली उपलब्धि है, द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति बनना। 25 जुलाई 2022 को देश के 15वें राष्ट्रपति के रूप में द्रौपदी मुर्मू ने अपना कार्यकाल शुरू किया।

खेलों की दुनिया में इन बेटियों ने देश का बढ़ाया गौरव

वर्ष 2022 में महिला खिलाड़ियों ने बार-बार देश का गौरव बढ़ाया। जनवरी में विजयश्री की जो शुरुआत हुई, वह सिलसिला आगे भी जारी रहा। पीवी सिंधु पूरे साल अपने शानदार खेल से चमकती रहीं, जिसकी शुरुआत सैयद मोदी इंटरनेशनल बैडमिंटन टूर्नामेंट 2022 खिताब जीतने से हुई। इस साल महज 26 गेंदों में 50 रन बनाकर क्रिकेटर रिचा घोष ने लप्पेबाजों की सूची में खुद को दर्ज कराया, वहीं दूसरी ओर मिताली राज ने इस साल छठवीं बार क्रिकेट विश्व कप में हिस्सा लिया। झूलन गोस्वामी इसी साल एकदिवसीय महिला क्रिकेट विश्व कप में संयुक्त रूप से सर्वाधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज बनकर उभरीं। महिला वेटलिफ्टर मीरा बाई चानू ने इस साल सिंगापुर वेटलिफ्टिंग इंटरनेशनल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। वहीं निकहत जरीन और नीतू ने स्ट्रैंड्जा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीते। प्रियंका नुटक्की इस साल भारत की 23वीं महिला चेस ग्रैंड मास्टर बनीं। प्रियंका मोहिते 8,000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाली पांच पर्वत चोटियों पर चढ़ने वाली देश की पहली महिला बनीं तो पीटी उषा को भारतीय ओलंपिक संघ की पहली महिला अध्यक्ष चुना गया।
साल की शुरुआत में ही लहराया परचम
देश की आधी आबादी के लिए वर्ष 2022 का आगाज ही शानदार रहा। सबसे पहले 1 जनवरी 2022 को निकिता सोकल ने मिसेज इंडिया गैलेक्सी 2021 का खिताब जीतकर महिलाओं के खाते में गौरवशाली उपलब्धि जोड़ी। जनवरी के शुरुआत में ही स्मृति मंधाना को आईसीसी वूमेंस क्रिकेटर ऑफ द ईयर घोषित किया गया। 9 जनवरी को फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ से सलमान खान के साथ चर्चा में आईं हर्षाली मल्होत्रा को सराहनीय अभिनय और फिल्म क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए 12वें भारत रत्न डॉ. अंबेडकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया । 11 जनवरी को महिलाओं के लिए एक उपलब्धिपूर्ण खबर आई, जब उड़ीसा राज्य सरकार ने मातृत्व अवकाश का लाभ 90 दिनों से बढ़ाकर 180 दिन कर दिया। इसके एक दिन बाद ही 12 जनवरी को तस्नीम मीर, अंडर-19 बालिका एकल में विश्व की नंबर एक शटलर बनीं। 15 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री सुरक्षा चूक मामले की जांच इंदु मल्होत्रा को सौंपी, जो इस बात को सिद्ध करती है कि महिलाएं बड़ी से बड़ी यहां जिम्मेदारी लेने में सक्षम है। 26 जनवरी को शिवांगी सिंह गणतंत्र दिवस परेड में रॉफेल फाइटर जेट उड़ाने वाली पहली भारतीय महिला पायलट बनीं। इसी महीने स्मृति मंधाना को आईसीसी टी-20 वूमेन टीम का सदस्य चुना गया, उनकी यह एक महीने के भीतर ही दूसरी बड़ी उपलब्धि रही। 
फिल्म और साहित्य में भी दिलाया सम्मान
फिल्म और साहित्य के क्षेत्र में भी इस साल आधी आबादी के नाम का डंका बजा। फिल्म अभिनेत्री आशा पारेख को 52वें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया, वहीं वर्ष 2022 में ही साहित्य के विश्व आकाश में हिंदी लेखिका गीतांजलि श्री ने अपने उपन्यास ‘टॉम्ब ऑफ सैंड’ यानी ‘रेत समाधि’ के लिए अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार हासिल किया। जब वह इसके लिए नामित हुईं, तभी एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही थी और जब उन्होंने इसे हासिल किया, तब तो यह बड़ी उपलब्धि बन ही गई। उधर भारतीय लेखिका मीना कंडासामी ने इंटरनेशनल ‘हर्मन केस्टन पुरस्कार – 2022’ भी जीता।
विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित किए कीर्तिमान
बिना पढ़े-लिखे होने के बावजूद मध्य प्रदेश के मंडला जिले के बरबसपुर गांव की दुर्गा बाई व्याम को कला के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए पद्मश्री से नवाजा गया। भारत सरकार की सर्वाधिक लोकप्रिय योजनाओं में से एक ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की इसी साल ब्रांड अंबेस्डर तनिष्का कोटिया और रिद्धिका कोटिया बनीं। रीतू खंडूरी, उत्तराखंड राज्य विधानसभा की पहली महिला स्पीकर बनीं। रुचिरा कांबोज को यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि के रूप में चुना गया। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने यूनीसेफ के सहयोग से ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’ अभियान शुरू किया, तो देश के एमएसएमई मंत्रालय ने महिलाओं के लिए ‘समर्थ’ नाम का विशेष उद्यमिता संवर्धन अभियान शुरू किया। इस तरह भारत में और साथ ही पूरे विश्व में भी भारतीय महिलाओं की सफलता का सफर भले धीमी गति से लेकिन लगातार आगे बढ़ता रहा। बीत रहा वर्ष 2022 भी इसका गवाह बना। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!