बस्तर-छत्तीसगढ़/Top Naxalite Commander Dead/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: शीर्ष नक्सली कमांडर और तेलंगाना राज्य समिति के सचिव यापा नारायण उर्फ हरिभूषण की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो गई। छत्तीसगढ़ पुलिस ने मौत की पुष्टि की है। बस्तर के इंस्पेक्टर जनरल (IG) पी सुंदरराज (P Sundarraj) ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से बस्तर पुलिस को सूचना मिल रही थी कि तेलंगाना स्टेट कमेटी सेक्रेटरी हरिभूषण समेत कुछ सीनियर नक्सल कैडर कोरोना संक्रमण के चपेट में हैं और इन सबकी हालत गंभीर है। कुछ विश्वस्त सूत्रों ने हरिभूषण की मौत मिनागुरम-भट्टीगुडम-जाबागट्टा के जंगलों में होने की पुष्टि की है। यह इलाका बीजापुर और सुकमा जिलों की सीमा पर स्थित है।

नक्सल कमांडर हरिभूषण पर 40 लाख रुपये का इनाम था। आईजी सुंदरराज ने भी हरिभूषण की इन दिनों बीजापुर-सुकमा जिलों के सीमावर्ती मिनागुरम-भट्टीगुडम-जबगट्टा गांवों के जंगलों में मौत होने की पुष्टि की है। बताया कि हरिभूषण छत्तीसगढ़ में नक्सलू हमलों की 22 से अधिक घटनाओं में शामिल रहा है। उसे यापा नारायण, जगन और दुर्योधन के नाम से भी जाना जाता था। बकौल आईजी, तेलंगाना के महबूबनगर जिले के मेदागुडम गांव के नक्सली हरिभूषण पर 40 लाख रुपये से अधिक का इनाम है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इससे पहले दिसंबर 2019 में दक्षिण बस्तर क्षेत्र में केंद्रीय समिति के सदस्य और डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के सचिव रमन्ना का बीमारी के कारण मृत्यु हो गई थी, जबकि पिछले कुछ सप्ताह के दौरान कमेटी के दो वरिष्ठ सदस्यों गंगा और शोभरोई की भी कोविड-19 संक्रमण के कारण मृत्यु हुई है। सुंदरराज ने आगे बताया कि नक्सली शिविरों में कोरोना संक्रमण के कारण स्थिति चिंताजनक है तथा पिछले कुछ महीनों में कोरोना वायरस के कारण 16 से अधिक वरिष्ठ और मध्यम स्तर के नक्सलियों की मौत हुई है। कई अन्य नक्सली संक्रमित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!