Tag: in Facebook

विनय साग़र जायसवाल की उम्दा ग़ज़ल को फेसबुक मुशायरे में मिले दो अवार्ड्स

ये आहों की नदी बहने न दी यूँ हमने आँखों से किताब-ऐ-दिल पे यह लिख्खी हुई तहरीर धो जाती

error: Content is protected !!