कोंडागांव-छत्तीसगढ़/2 naxalites killed/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: कोंडागांव जिले के धनोरा में मंगलवार को डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) के जवानों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो नक्सली मार गिराए गए। मुठभेड़ के बाद एक महिला और एक पुरुष नक्सली का शव बरामद हुआ है।


उत्तर बस्तर कांकेर मैनपुर डिवीजन के सक्रिय रमेश टेकाम सहित दर्जनभर नक्सलियों के उपस्थिति की सूचना पर जिला मुख्यालय से डीआरजी की टीम रवाना हुई थी। मंगलवार को भंडारडीह पहाड़ी के पास घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी फायरिंग से डरकर नक्सली भाग खड़े हुए। तलाशी के दौरान मौके से दो नक्सलियों के शव, एक एसएलआर, एक 303 रायफल, तीन 12 बोर राइफल सहित अन्य सामग्री बरामद हुई। मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

पांच लाख के इनामी समेत सात नक्सली गिरफ्तार

उधर, नारायणपुर जिले के डेंगलपुट्टीपारा में भी मंगलवार सुबह हुई मुठभेड़ के बाद पुलिस ने घेराबंदी कर पांच लाख के इनामी समेत पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। सुकमा में भरमार बंदूक समेत दो नक्सली दबोचे गए।

कई नक्सलियों की कोरोना से मौत

छत्तीसगढ़ के बस्तर में कोरोना से कई मौतों के बावजूद नक्सली यह मानने को तैयार नहीं हैं कि किसी नक्सली की महामारी से मौत हुई है। कोरोना संक्रमित नक्सली आयतू का शव सुकमा पहुंचने के फौरन बाद नक्सलियों के दक्षिण सब जोनल ब्यूरो ने विज्ञप्ति जारी कर यह दावा किया। सफाई दी कि दो नक्सलियों की मौत मलेरिया और टाइफाइड की वजह से हुई है।

नक्सल प्रभावित गांवों में फैल रही महामारी

नक्सलियों के इसी झूठ की वजह से नक्सल प्रभावित गांवों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। बीजापुर जिले के गंगालूर इलाके के गांवों में नक्सली टीका भी लगवाने नहीं दे रहे हैं। दंतेवाड़ा पुलिस के समक्ष सरेंडर कर चुके कई नक्सली जांच में संक्रमित मिले थे। नारायणपुर में एक और कांकेर में भी दो कोरोना संक्रमित का पुलिस उपचार करवा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!